चंडीगढ़. जाट आरक्षण मामले में आज पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट में सुनवाई होगी. वहीं जाट आरक्षण को लेकर पांच जून से शुरू हुआ दूसरे चरण का आंदोलन रविवार को खत्म हो गया. आंदोलन कर रहे जाट नेताओं ने ऐलान किया है कि अगर सरकार उनकी मांग नहीं मानती है तो वो अपना आंदोलन फिर से शुरू कर देंगे.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
अनशन पर बैठे लोगों को जूस पिलाने के साथ ही हरियाणा में पांच जून से चला आ रहा जाट आरक्षण आंदोलन आखिरकार रविवार को ख़त्म हो गया. इसके साथ ही हरियाणा में अलग-अलग जगहों पर चल रहे धरने भी ख़त्म हो गए.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
हरियाणा सरकार और यशपाल मलिक की अगुवाई वाली अखिल भारतीय जाट आरक्षण संघर्ष समिति के बीच दस सूत्रीय समझौते के बाद ये फ़ैसला लिया गया।इस बीच खबरें आ रही है कि जाटों ने 5 जून से जारी धरना रद्द कर दिया है. जाट नेताओं ने बातचीत के लिए सरकार को 31 अगस्त तक का समय दिया है.