लखनऊ. शामली जिले के कैराना कस्बे से हिंदुओं के पलायन को लेकर प्रदेश में राजनीतिक उफान चरम पर है. इस मुद्दे को लेकर एक ओर आरोप-प्रत्यारोप का दौर जारी है वही भाजपा का नौ सदस्यीय जांच दल आज कैराना का दौरा करेगा. सुरेश खन्ना के नेतृत्व में भाजपा का जांच दल सुबह 10.30 बजे कैराना पहुंचेगा. 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
जांच दल में डॉ राधामोहन दास अग्रवाल, बागपत के सांसद डॉ. सतपाल सिंह, सहारनपुर के सांसद राघव लखन पाल शर्मा, बुलन्दशहर के सांसद डॉ भोला सिंह, अलीगढ़ के सांसद सतीश गौतम, आंवला के सांसद धर्मेन्द्र कश्यप, यूपी के पूर्व डीजीपी बृजलाल इस जांच टीम में शामिल हैं. बता दें कि कैराना पलायन में सियासी दांव पेंच के बीच बीजेपी सांसद हुकुम सिंह ने मंगलवार को दूसरी नई सूची जारी कर दावा किया है कि इस सूची में 63 लोगो के नाम है जो कांधला से पलायन कर चुके है।
 
बता दें कि सात जून को प्रदेश सरकार पर हल्ला बोलते हुए ये दावा किया था कि शामली के कैराना कस्बे से 346 लोग पलायन कर चुके है. बीजेपी सांसद हुकुम सिंह ने कहा कि कैराना से पलायन का सिलसिला पिछले चार सालों से जारी हैं. उन्होंने कहा कि कैराना के हालात श्रीनगर की तरह हो गए हैं. कैराना में हफ्ता वसू्ली, लूट मारपीट की घटनाओं की वजह से व्यापारी दहशत में हैं. 
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
इस मामले में मायावती ने आरोप लगाया कि बीजेपी राज्य में दंगे कराना चाहती है. उन्होंने कहा कि अपनी हार से प्रदेश की जनता का ध्यान हटाने के लिए जबरन कैराना में लोगों के पलायन का मुद्दा गरमा कर ऐसा प्रचार किया जा रहा जैसे मुसलमानों ने ही हिंदुओं को पलायन करने को मजबूर किया.