इलाहाबाद. केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह का नाम हो सकता है कि भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की ओर से उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार के रूप में चर्चा में हो, लेकिन यहां तो सुल्तानपुर के सांसद वरुण गांधी पोस्टर ब्याय के रूप में उभर कर सामने आए हैं. बीजेपी की यहां दो दिवसीय राष्ट्रीय कार्यकारिणी बैठक के मौके पर शहर में उनके होर्डिग बड़ी संख्या में लगे हुए हैं. 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
UP की वरुण पुकार-अबकी बार BJP सरकार
वरुण गांधी के विभिन्न आकार वाले होर्डिग और पोस्टर के अलावा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह भी होर्डिग-पोस्टर में छाए हुए हैं. बीजेपी ने पोस्टर और होर्डिग से लगभग पूरे शहर को भगवा रंग में पाट दिया है. वरुण गांधी के एक बहुत बड़े आकार के होर्डिग पर लिखा है, ‘यूपी की वरुण पुकार-अबकी बार बीजेपी सरकार.’  पार्टी के नेता अगले साल होने वाले उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव की रणनीति पर मंथन के लिए इलाहाबाद में जुटे हैं. राष्ट्रीय कार्यकारिणी की इस बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह और पार्टी के अन्य वरिष्ठ नेता शामिल होने वाले हैं. 
 
मुरली मनोहर जोशी पोस्टरों में नहीं
राजनाथ सिंह और बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य जैसे अन्य नेताओं के भी पोस्टर यहां देखे जा सकते हैं. लेकिन, आश्चर्यजनक ढंग से पूर्व केंद्रीय मंत्री और पार्टी के मार्गदर्शक मंडल के सदस्य मुरली मनोहर जोशी के पोस्टर कहीं नजर नहीं आ रहे हैं. बीजेपी के पूर्व महासचिव संजय जोशी और बीजेपी के असंतुष्ट सांसद शत्रुघ्न सिन्हा भी कुछ पोस्टरों में नजर आ रहे हैं. कई पोस्टरों में मोदी सरकार की पिछले दो साल की उपलब्धियों का भी बखान किया गया है. इस पोस्टर युद्ध को पार्टी के अंदर चल रही लड़ाई की झलक के रूप में देखा जा रहा है.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
‘इन पोस्टरों से कुछ नहीं हो रहा’
मौर्य ने कहा, “इस तरह के पोस्टर युद्ध से कुछ होने नहीं जा रहा है. अंतत: पार्टी का संसदीय बोर्ड ही मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार तय करेगा.” हालांकि, बीजेपी के एक जिला अध्यक्ष ने कहा कि वरुण स्वाभाविक रूप से युवा नेता के रूप में उभर रहे हैं और राजनाथ सिंह उत्तर प्रदेश में पार्टी का चेहरा बन गए हैं, लेकिन वह केवल योगी आदित्यनाथ ही हैं जो पार्टी का राज्य की सत्ता से निर्वासन खत्म कर सकते हैं. जिलाध्यक्ष ने कहा, “शहरी मतदाता तो पहले से ही बीजेपी के साथ हैं. पार्टी को अब ग्रामीण मतों की जरूरत है. योगी सबसे अच्छी पसंद हो सकते हैं.”