नई दिल्ली. 2002 के गोधरा कांड के बाद गुलबर्ग सोसायटी में हुए दंगों के मामले में 24 आरोपियों की सजा का ऐलान सोमवार को होगा. एसआईटी कोर्ट ने 2 जून को मामले की सुनवाई करते हुए 66 में से 36 आरोपियों को बरी और वहीं 24 आरोपियों को दोषी करार दिया है. कोर्ट ने 24 दोषियों में से 11 को हत्या का आरोपी बनाया था.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर

 
बता दें कि 2002 के गुजरात दंगों के दौरान अहमदाबाद स्थित गुलबर्ग सोसायटी पर करीब 400 लोगों की हिंसक भीड़ ने हमला बोला था. इसमें पूर्व सांसद एहसान जाफरी सहित 69 लोगों की हत्या कर दी गई थी.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
मामले में बीते दो जून को विशेष अदालत के न्यायाधीश पीबी देसाई ने 66 आरोपियों में से 24 को दोषी करार दिया था. अदालत ने 11 को हत्या का दोषी माना जबकि विश्व हिंदू परिषद के नेता अतुल वैद्य सहित 13 अन्य लोगों को हत्या से छोटे अपराध के लिए दोषी माना था. 14 साल बाद आए अदालत के फैसले में छह की मौत ट्रायल के दौरान ही हो गई थी.