पटना. बिहार बोर्ड टॉपर्स विवाद का मास्टरमाइंड बच्चा राय अभी भी पुलिस की गिरफ्त से बाहर है. खबरों के मुताबिक बच्चा राय ने जालसाजी करके अपनी बेटी को बिहार बोर्ड का टॉपर बनाया था.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
इस मामले में एक और सबसे बड़ा खुलासा हुआ है. अब तक लोग साइंस में सौरभ श्रेष्ठ को टॉपर मान रहे थे, लेकिन नए खुलासे के मुताबिक साइंस टॉपर सौरभ नहीं, बल्कि बच्चा राय की बेटी शालिनी राय ने टॉप किया था, लेकिन बोर्ड ने शालिनी का रिजल्ट रोक दिया था, क्योंकि शालिनी की उत्तरपुस्तिका का वह कोना फाड़ दिया गया था जहां नंबर लिखे जाते हैं और उसके बगल की जगह पर कॉपी नंबर लिखा गया था.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
परीक्षा के दौरान अनुपस्थित रही शालिनी
 
इस खुलासे में सबसे चौंकाने वाली बात यह है कि शालिनी पूरे पेपर में अनुपस्थित रही. इससे पहले भी 10वीं बोर्ड में शालिनी ने अपने मास्टरमाइंड पिता की बदौलत टॉप किया था. इस पूरे कांड के लिए गठित एसआईटी ने शालिनी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है, लेकिन घोटाले के सामने आने के बाद से ही शालिनी और उसके पिता बच्चा राय फरार हैं.