अहमदाबाद. गुजरात के खेड़ा जिले में मुख्यमंत्री आनंदीबेन पटेल एक कार्यक्रम के दौरान भावुक हो गईं. अहमदाबाद में ‘शाला प्रवेशोत्सव’ प्रोग्राम में 9वीं कक्षा की बच्ची अंबिका गोहेल ने कन्या भ्रूण हत्या पर ऐसा भाषण दिया जिसे सुनकर पूरा माहौल गंभीर हो गया. भाषण देते वक्त खुद अंबिका भी रोने लगी. 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
आनंदीबेन पटेल राज्य सरकार द्वारा चलाए जा रहे सालाना स्कूल भर्ती मुहिम के तहत प्राथमिक स्कूल में छात्रों के कार्यक्रम में पहुंची थीं. इस कार्यक्रम में अंबिका ने कन्या भ्रूण हत्या पर एक भाषण दिया. अंबिका गोहेल ने अपने भाषण में जन्म से पहले ही मां के गर्भ में मार दी जाने वाली अजन्मी बच्चियों की तकलीफ बताई. इसके लिए उन्होंने एक अजन्मी बच्ची द्वारा अपनी मां के लिए लिखी एक सांकेतिक चिट्ठी भी पढ़ी. इस चिट्ठी में अजन्मी बच्ची ने अपनी मां से उसे पैदा करने की गुजारिश की थी.
 
अंबिका ने जब चिट्ठी को पढ़कर सुनाया तो अंत में आनंदीबेन पटेल ने उसे गले से लगा लिया. उस दौरान अंबिका और सीएम दोनों रो रही थीं. कार्यक्रम में आए लोगों को संबोधित करते हुए सीएम ने कहा कि ‘छोटी-छोटी बच्चियों में काफी प्रतिभा है. अभिभावकों को बेटों और बेटियों में कोई फर्क नहीं करना चाहिए और बेटियों को भी पढ़ने देना चाहिए.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
राज्य सरकार द्वारा पिछले 13 साल से शुरू किए गए इस शिक्षा सेवायज्ञ के चलते अब प्राथमिक स्कूलों में सौ फीसदी बच्चों का दाखिला हो रहा है. इतना ही नहीं, राज्य में आयोजित किए जाने वाले गुणोत्सव कार्यक्रम के चलते प्राथमिक शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार आया है और करीब 1000 प्राथमिक स्कूल ए-प्लस श्रेणी में पहुंच गए हैं.