नई दिल्ली. दिल्ली हाईकोर्ट ने बीजेपी विधायक ओपी शर्मा और आप विधायक अलका लाम्बा से पूछा है क्या माफ़ी मांगने से मामले को खत्म किया जा सकता है. बीजेपी विधायक ओपी शर्मा को दो सत्र के लिए विधानसभा से सस्पेंड कर दिया गया था जिसको उन्होंने हाईकोर्ट में चुनोती दी है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
बुधवार को बीजेपी विधायक ओपी शर्मा की याचिका पर सुनवाई करते हुए उनको और आप विधायक अलका लाम्बा को गुरुवार को सुबह 10.30 पर कोर्ट में पेश होने को कहा. कोर्ट ने दोनों विधायकों से पूछा है क्या माफ़ी मांगने से ये मामला ख़त्म हो सकता है. दरअसल बीजेपी विधायक ओपी शर्मा को दो सत्र के लिए विधानसभा से सस्पेंड कर दिया गया था जिसके बाद ओ पी शर्मा ने मंगलवार को हाई कोर्ट में सस्पेंड करने की प्रकिया को कोर्ट में चुनौती दी थी. 
 
दिल्ली से बीजेपी विधायक ओपी शर्मा को सस्पेंड करने की कार्रवाई पिछले साल नवंबर महीने में ओपी शर्मा के आम आदमी पार्टी की विधायक अलका लांबा पर आपत्तिजनक टिप्पणी के चलते हुई. ओपी शर्मा ने अलका लांबा को रात भर बाहर घूमने वाली महिला कहा था. इस मुद्दे पर उस समय दिल्ली विधानसभा में भी खूब हंगामा हुआ था. उनके खिलाफ विधानसभा की आचार समिति जांच कर रही थी.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
विधानसभा की आचार समिति ने इस मामले में मामले में उनकी सदस्यता रद्द करने की सिफारिश की थी. जिसके बाद दो विधानसभा के लिए उनको सस्पेंड कर दिया था. कार्रवाई के बाद शर्मा ने कहा था कि मेरा इरादा लांबा को आहत करने का नहीं था क्योंकि वह मेरी बहन की तरह हैं, लेकिन अगर उन्होंने आहत महसूस किया है तो मुझे इसको लेकर अफसोस है.