पटना. बिहार में पशुपालन विभाग के दफ्तर से चर्चित चारा घोटाला से जुड़ी कुछ फाइलें चोरी हो गई हैं. विभाग के अधिकारियों ने फाइलें चोरी होने की एफआईआर दर्ज करा दी है. आरजेडी अध्यक्ष लालू यादव के मुख्यमंत्री रहने के दौरान हुए 950 करोड़ के इस घोटाले में लालू भी आरोपी हैं.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
पटना के विकास भवन में विभाग के दफ्तर की तीन आलमारियां तोड़कर ये फाइलें गायब की गई हैं. सूत्रों का कहना है कि चोरी की यह घटना 25-26 अप्रैल की रात को हुई लेकिन इसकी एफआईआर 16 मई को दर्ज कराई गई है. चोरी सामने आने के बाद फाइल तलाशने की कोशिश हुई लेकिन जब नहीं मिलीं तो 30 अप्रैल को एफआईआर दर्ज कराने का फैसला लिया गया.
 
सूत्रों का कहना है कि चोरी गई फाइलों में चारा घोटाला से जुड़े कुछ दस्तावेजों के अलावा विभाग के दूसरे कर्मचारियों के खिलाफ चल रहे मामलों की फाइल भी थीं. वैसे, कानूनी जानकारों का कहना है कि इसका असर लालू यादव के खिलाफ कोर्ट में चल रहे मामलों पर नहीं पड़ेगा क्योंकि कोर्ट में ये सारे दस्तावेज पहले ही जमा हो चुके थे.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
फाइल चोरी की घटना पर बीजेपी ने नीतीश कुमार सरकार पर निशाना साधा है और आरोप लगाया है कि लालू यादव को चारा घोटाला से बचाने की कोशिश की जा रही है. बीजेपी नेता और केंद्रीय मंत्री राजीव प्रताप रूडी ने कहा कि बिहार सरकार के सिस्टम में कोई है जो लालू यादव को दोषमुक्त साबित कराने की तिकड़म कर रहा है.