अहमदाबाद. गुलबर्ग सोसायटी नरसंहार मामले में दोषी पाए गए 24 अभियुक्तों को अब विशेष अदालत 9 जून को सजा सुनाएगी. इससे पहले संभावना थी कि कोर्ट सभी आरोपियों को आज सजा सुना सकता है.  लेकिन अब यह मामला 9 जून तक टल गया. 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
बता दें कि 2002 के गुजरात दंगों के दौरान अहमदाबाद स्थित गुलबर्ग सोसायटी पर करीब 400 लोगों की हिंसक भीड़ ने हमला बोला था. इसमें पूर्व सांसद एहसान जाफरी सहित 69 लोगों की हत्या कर दी गई थी. मामले में बीते दो जून को विशेष अदालत के न्यायाधीश पीबी देसाई ने 66 आरोपियों में से 24 को दोषी करार दिया था. 
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
अदालत ने 11 को हत्या का दोषी माना जबकि विश्व हिंदू परिषद के नेता अतुल वैद्य सहित 13 अन्य लोगों को हत्या से छोटे अपराध के लिए दोषी माना था. 14 साल बाद आए अदालत के फैसले में छह की मौत ट्रायल के दौरान ही हो गई थी. फैसले के दौरान अदालत ने भारतीय दंड संहिता की धारा- 120बी को हटाते हुए कहा कि इस मामले में आपराधिक साजिश रचने का कोई सबूत नहीं है, लिहाजा सभी आरोपियों पर से साजिश रचने के आरोप हटाए जाते हैं.