दादरी. दादरी में एक बार फिर से तनाव बढ़ गया है. एक बार फिर से रिपोर्ट के आधार पर कहा जा रहा है कि अखलाक के घर से मिला मांस का टुकड़ा बीफ ही था. जिसके बाद गांववालों ने एक महापंचायत का फैसला किया. जिसमें अखलाक के परिजनों के खिलाफ गोहत्या का मामला दर्ज किए जाने की मांग उठाये जाने की बात की जा रही है. 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
इस महापंचायत से निपटने के लिए पुलिस ने भी कमर कस ली है और किसी भी संभावित दुर्घटना को रोकने के लिए क्षेत्र में धारा 144 लगा दी गई है. पुलिस अधिकारियों का कहना है कि दादरी में हिंसा की किसी संभावित घटना से निपटने के लिए दफा 144 (निषेधाज्ञा) लागू कर दी गई है, जिसके तहत लोगों को इकट्ठा होने की इजाज़त नहीं होगी. 
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
इस बीच, भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के स्थानीय नेता संजय राणा ने कहा है कि महापंचायत का होना बेहद ज़रूरी है. गौरतलब है कि पुलिस के मुताबिक अखलाक की हत्या के तार राणा के पुत्र विशाल से जुड़े हुए हैं.