पटना. बिहार बोर्ड में 12वीं के टॉपर्स की हकीकत सामने आने के बाद बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पहली बार इस पर प्रतिक्रिया दी है. नीतीश ने कहा कि अच्छा हुआ टॉपर्स की सच्चाई सामने आ गई. उन्होंने कहा कि आगे से इसका ध्यान रखा जाएगा.
 
नीतीश ने कहा कि वो अपने स्तर पर इस मामले को देखेंगे. उन्होंने कहा, ‘मैं इसे अपने स्तर पर देखूंगा. पहले भी ऐसी घटना सामने आई थी और मेरी पहल पर कार्रवाई हुई थी.’ मुख्यमंत्री ने कहा कि इस घटना पर क्रिमिनल केस बनेगा. नीतीश ने कहा, ‘इसकी पूरी जांच होगी. क्रिमिनल केस भी बनेगा और कठोर कार्रवाई होगी. जिम्मेदारी तय की जाएगी.’
 
बिहार में इस तरह की ये पहली घटना नहीं है. इससे पहले परीक्षा के दौरान खिड़कियों पर लटककर छात्रों को नकल कराते लोगों सैकड़ों लोगों को तस्वीरें सामने आई थी, जिसने पूरे देश को हैरत में डाल दिया था. नीतीश ने कहा, ‘पिछली बार मैट्रिक की परीक्षा में नकल की तस्वीरें सामने आईं इसलिए इस बार सख्ती की गई तो कोई घटना नहीं हुई. अब ये टॉपर्स का मामला सामने आई है तो इस पर भी कड़ी कार्रवाई की जाएगी.’
 
आपको बता दें कि बिहार के 12वीं बोर्ड के रिजल्ट सामने आने के बाद आज तक की टीम आर्ट्स की टॉपर रूबी राय और साइंस के टॉपर सौरभ श्रेष्ठ से मिलने पहुंची थी. कैमरे के सामने जब दोनों से उनके सब्जेक्ट से जुड़े मामूली सवाल पूछे गए तो उन्हें जवाब हैरान करने वाले और गलत थे. इसके बाद प्रशासन की नींद टूटी और परीक्षा समिति ने सभी 14 टॉपर्स को शुक्रवार को इंटरव्यू के लिए बोर्ड कार्यालय बुलाया. इसमें आर्ट्स टॉपर रूबी राय को छोड़कर सभी 13 टॉपर पहुंचे थे. इंटरव्यू में 13 में से 11 को पास कर दिया गया जबकि सौरभ श्रेष्ठ और राहुल कुमार के परीक्षाफल रद्द करने का निर्णय लिया गया है.