नई दिल्ली. आतंकी संगठन आईएस ने भारत के खिलाफ 22 मिनट की धमकी भरे वीडियो की राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने जांच शुरू कर दी है. जारी हुअ वीडियो में 6 लोगों की पहचान हो गई है. इस वीडियो में शामिल 6 लोग भारतीय हैं. वीडियो की जांच में अमेरिका की मदद ली जाएगी. इस वीडियो में दो लोग महाराष्ट्र से एक कर्नाटक से और उत्तरप्रदेश से भी हैं. 
 
अरबी भाषा में जारी एक वीडियो में आईएस में कहा गया है कि आतंकी संगठन भारत से कश्मीर, बाबरी मस्जि‍द, गुजरात और मुजफ्फरनगर का बदला लेगा. वीडियो में कहा गया है कि भारत में आईएसआईएस स्थानीय जेहादियों से ही हमले करवाएगा. आईएस की ओर से भारत और दक्षिण एशिया में जारी किया गया यह पहला वीडियो है. जारी वीडियो में मुंबई के ठाणे के रहने वाले छात्र फहद तनवीर शेख ने कहा था कि हम वापस लौटेंगे. हम तलवार लेकर लौटेंगे. हम लोग बाबरी मस्जिद और कश्मीर, गुजरात और मुजफ्फरनगर में मुसलमानों की हत्या का बदला लेंगे. आईएस में भर्ती हुए और रक्का में बीते साल मारे गए ठाणे के ही अपने साथी शमीम टांकी को शेख ने श्रद्धांजलि भी दी थी.  
 
वीडियो में ऐसे ही 5 अन्य आतंकियों के बयान हैं. इनमें सिर्फ फहद शेख की पहचान हो पाई है. वीडियो में उसने अपना नाम अबु अम्र अल हिंदी बताया है. शेख के साथ इराक और सीरिया जाने वाले तीसरा भारतीय मुसलमान अरीब माजिद राष्ट्रीय जांच एजेंसी की कस्टडी में है और उससे पूछताछ हो रही है. वीडियो में आतंकी संगठन इंडियन मुजाहिदीन छोड़कर आईएस में शामिल हो गए एक अन्य शख्श की निशानदेही भी हुई है.