नई दिल्ली. एनजीटी ने सभी राज्य सरकारों को नोटिस जारी कर पूछा कि आपके राज्य के दो सबसे प्रदूषित शहर कौन से है? गाड़ियों से होने वाले सबसे ज्यादा प्रदूषित शहर कौन से है? एनजीटी ने कहा कि हर तरह के गाड़ियों की संख्या के बारे में हलफनामा दाखिल कर इसकी जानकारी दें. साथ ही राज्य के सबसे बड़ी आबादी वाले शहरों के बारे में भी जानकारी देने को कहा गया है.
 
राज्यों को पेट्रोल और डीज़ल की गाड़ियों के बारे में बताना है. इसमें 2 व्हीलर भी शामिल होंगे. इसमें डस्ट, बर्निंग वेस्ट और गाड़िया भी शामिल है. फ़ैक्टरियों और खनन से होने वाले प्रदूषण के बारे में भी राज्यों को बताना होगा.  
 
एनजीटी ने कहा कि राज्यों में सम्बंधित विभाग के मुख्य सचिव इस जानकारी के बारे में 3 हफ्ते के भीतर हलफनामा दायर करना होगा. हलफ़नामे को राज्य सरकारों को वेबसाइट पर भी डालना होगा. एनजीटी ने साफ़ किया कि अगली सुनवाई पर हम आदेश जारी करेंगे. प्रदूषण मामले में अगली सुनवाई 11 जुलाई को होगी.  
 
इस मामले में उत्तर प्रदेश सरकार ने जवाब दाखिल कर दिया है. राज्य की तरफ से बताया गया है कि लखनऊ, आगरा और बनारस सबसे प्रदूषित शहर है.