नई दिल्ली. देश की राजधानी में अफ्रीकी नागरिकों पर हमले की केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह द्वारा निंदा के कुछ ही घंटे बाद दिल्ली पुलिस ने कहा कि चार अफ्रीकी नागरिकों पर हमले के सिलसिले में एक किशोर सहित पांच लोगों को गिरफ्तार किया गया है. लेकिन, साथ ही पुलिस ने इन हमलों के नियोजित या नस्लीय होने से इनकार किया है.
 
पुलिस ने कहा कि जिन इलाकों में अधिक संख्या में अफ्रीकी नागरिक रहते हैं, वहां लोगों को इनके प्रति संवेदनशील बनाने के लिए कार्यक्रम भी शुरू किया गया है. मैदानगढ़ी एवं राजपुर खुर्द इलाके में यह कार्यक्रम शुरू किया गया है जहां 300 से अधिक अफ्रीकी रहते हैं.
 
दिल्ली पुलिस के उपायुक्त ईश्वर सिंह ने कहा, “चार अफ्रीकी नागरिकों पर हमले के सिलसिले में हम लोगों ने चार लोगों को गिरफ्तार किया है. एक किशोर को भी पकड़ा गया है. कुछ और लोग जल्द ही पकड़े जाएंगे.”  पुलिस के अनुसार, दक्षिण दिल्ली के महरौली इलाके में गुरुवार की रात एक किलोमीटर के दायरे में घटी हमलों की चार अलग-अलग घटनाओं में चार मामले दर्ज किए गए हैं.
 
पुलिस उपायुक्त ने कहा, “न तो ये हमले नस्लीय हैं और न ही सुनियोजित. ये छिटपुट घटनाएं हैं. एक घटना तेज संगीत बजाने को लेकर हुई है. दूसरी रात में रास्ते में शराब पीने को लेकर हुई. हम लोगों ने खुद संज्ञान लेकर एफआईआर दर्ज की है. कोई भी पीड़ित मामला दर्ज कराने आगे नहीं आया.” कुछ पीड़ितों ने कहा है कि हमले के समय उन पर नस्लीय टिप्पणियां की गईं.