नई दिल्‍ली: केंद्र में मोदी सरकार के दो साल पूरे होने के मौके पर दिल्‍ली के इंडिया गेट पर आयोजित कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जनता को संबोधित किया. मोदी ने कहा कि हमारी सरकार ने भ्रष्टाचार के खिलाफ सख्त से सख्त कदम  उठाए. पहले जो पैदा भी नहीं हुआ, उसे पेंशन मिल जाती थी. इस प्रकार हमने 15,000 करोड़ रुपया बचा लिया.
 
मोदी ने कहा कि जनता के द्वारा चुनी गई सरकार का निरंतर आकलन होना चाहिए. कमियां हों, अच्‍छाइयां हों उसका लेखा-जोखा होना चाहिए. दो साल के कार्यकाल की ओर नजर करने से इस बात का भी एहसास होता है कि हम जहां पहुंचने के लिए चले थे उस हो जा रहे हैं कि नहीं, जिस दिशा में चले थे उस दिशा में कहां तक चले.
 
पीएम मोदी ने कहा, अगर मैं अपनी सरकार की उपलब्धियों को गिनाने लगूं तो इन दूरदर्शन वालों को यहां एक हफ्ते तक रुकना पड़ेगा, उन्होंने कहा, लेकिन मैं आपसे वादा करता हूं कि हमारी कोशिशों में कोई कमी नहीं आएगी. यह देश आगे बढ़ रहा है और बढ़ेगा. मोदी ने कहा कि 15 दिन में दो बातें स्‍पष्‍ट देखीं गई हैं. पहली बात विकासवाद की हुई है दूसरी बात विरोधावास की हुई है.
 
मोदी ने कहा कि पहले क्‍या होता था और अब क्‍या हो रहा है? इस बात का आकलन करना जरूरी है. 2 साल पहले मीडिया में भ्रष्‍टाचार की ही खबरें होती थी. 
 
सरकार की दूसरी सालगिरह पर PM मोदी का संबोधन:
 
  • जनता का आशीर्वाद हमारे साथ है. हम आगे बढ़ते रहेंगे.
  • हम टीम इंडिया की संकल्पना की साथ चले हैं और चलते रहेंगे.
  • लेकिन हम भरोसा दिलाते हैं उन्हें तकलीफ हो तो हो, हम विकास के पथ पर आगे बढ़ते रहेंगे.
  • खाने वालों को तकलीफ तो होगी ही.
  • जिन लोगों ने पैसा खाया, उन्हें तो मुश्कि‍लें होंगी ही.
  • संकल्प के साथ चलना है, जनता की अपेक्षा को पूरा करना है.
  • हम अफसरशाही को खत्म करने के लिए हर संभव काम कर रहे हैं.
  • संभव है इससे कुछ गड़बड़ी हो, एक दो लोग गलत आ जाएं लेकिन भ्रष्टाचार का जाल खत्म हुआ.
  • भ्रष्टाचार रोकने के लिए वर्ग 3 और वर्ग 4 की नौकरी में इंटरव्यू को खत्म किया.
  • नौकरी के लिए इंटरव्यू में भ्रष्टाचार का जाल फैला.
  • युवा ये सोचने लगते हैं कि इंटरव्यू के लिए कोई जुगाड़ है क्या.
  • लिखि‍त परीक्षा के बाद इंटरव्यू का कॉल आता है तो ये चिंता नहीं होती कि क्या पूछा जाएगा.
  • भ्रष्टाचार का सबसे बड़ा कारण नौकरी है.
  • हमने युवाओं को विकास से जोड़ने के लिए कई कदम उठाए.
  • मैंने रेल मंत्री सुरेश जी से कहा कि एक दिन रेल में टिकट चेक न हो ऐसी भी व्यवस्था कीजिए.
  • मुझे अपने देश की जनता पर पूरा भरोसा है.