नई दिल्ली. मोदी सरकार के दो साल पूरे होने पर भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) अध्यक्ष अमित शाह ने मोदी सरकार की उपलब्धियां गिनाईं. उन्होंने एनडीए सरकार की तमाम योजनाओं को गिनाते हुए कहा कि सरकार गरीबों को ध्यान में रखकर योजनाओं पर आगे बढ़ रही है. शाह ने यह घोषणा की है कि पूरे देश में पार्टी कार्यकर्ता 15 दिनों तक विकास पर्व मनाएंगे.
 
‘विकास पर्व के नाम से जाना जाएगा 2 साल का जश्न’
शाह ने कहा कि सरकार ने जो काम किए उन्हें जनता तक पहुंचाया जाएगा. उन्होंने कहा कि दो साल का जश्न विकास पर्व के नाम से मनाया जाएगा. शनिवार से 15 दिनों तक चलने वाले इस कार्यक्रम के  दौरान पार्टी के नेता और केंद्रीय मंत्री सरकार के दो साल के कामकाज को जनता के बीच रखेंगे. बीजेपी की जहां भी सरकारें रही हैं, विधायक, सांसद रहे हैं वहां पार्टी ने जनता को कामकाज का हिसाब दिया है. यह पार्टी की परंपरा रही है. 
 
200 जगहो पर होगा कार्यक्रम
शाह ने कहा कि इस पर्व के तहत देश में करीब 200 जगहों पर कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा. युवा सम्मेलन और कॉन्फ्रेंस होंगी. इसके लिए 30 टीमें बनाई गई हैं. बीजेपी अध्यक्ष ने कहा कि हम जनता के बीच विकास के नाम के साथ जाएंगे. उन्होंने कहा कि पार्टी में जनादेश का हिसाब देने की परंपरा रही है. उन्होंने दावा किया कि पिछले दो साल में केंद्र में बीजेपी और सहयोगी दलों की सरकार पर एक भी भ्रष्टाचार का आरोप नहीं लगा है.
 
‘सरकार ने गरीब परिवारों को मुख्यधारा से जोड़ा’
उन्होंने कहा, ‘दो साल में हमारी सरकार ने जो कुछ किया है उसके आधार पर पार्टी अध्यक्ष होने के नाते मुझे यह कहने में झिझक नहीं है कि देश को एक बेहतरीन सरकार मिली है.’ मोदी सरकार ने जनधन योजना, मुद्रा योजना, उज्जवला योजना के जरिए देश के गरीब परिवारों को विकास की मुख्यधारा से जोड़ने का काम किया है.
 
21वीं शताब्दी भारत की शताब्दी है 
पार्टी प्रमुख शाह का दावा है कि 21वीं शताब्दी भारत की शताब्दी है. उन्होंने कहा कि ये सरकार गरीबी उन्मूलन के लिए कई कार्यक्रम लेकर आई है. वन रैंक वन पेंशन की समस्या का समाधान इस सरकार की बड़ी उपलब्धि है. अमित शाह का कहना है कि यह सरकार यूरिया की चोरी रोकने में सफल हुई है.
 
अर्थव्यवस्था को उबारा 
अमित शाह ने कहा कि मोदी सरकार ने देशी की जीडीपी को चीन से बेहतर स्थिति में ला दिया है. जो अर्थव्यवस्था यूपीए सरकार के समय दम तोड़ रही थी उसमें मोदी सरकार ने जान फूंकी है.