नई दिल्ली: मोदी सरकार के दो साल पूरे होने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अमेरिकी अखबार वॉल स्ट्रीट जर्नल को दिए एक इंटरव्यू में कहा कि भारत हमेशा से ही दक्षिण एशिया में बेहतर माहौल का पक्षधर रहा है. इसलिए मैं पाकिस्तान गया था. उन्होंने आगे कहा कि आतंकवाद पूरी दुनिया के लिए चिंता का विषय है. हम आतंकवाद से समझौता नहीं कर सकते और न ही उनसे समझौता करना चाहिए.
 
‘इस साल GST बिल पास होने की उम्मीद’
पीएम मोदी ने कहा कि अर्थव्यवस्था में सुधार के लिए उन्होंने कदम तो उठाए, लेकिन अभी बहुत कुछ करना बाकी है. इस साल जीएसटी बिल पास होने की उम्मीद भी उन्होंने जताई. भूमि अधिग्रहण के मामले में उन्होंने बताया कि केंद्र के स्तर पर कानून में संशोधन के दिन खत्म हो गए हैं. अब बदलाव के लिए राज्य सरकारों को पहल करनी होगी. अर्थव्यवस्था में विदेशी निवेश में नए रास्ते खोले गए हैं.
 
‘भ्रष्टाचार पर लगाम के लिए कड़े कदम उठाए’
भ्रष्टाचार के मुद्दे पर पीएम मोदी ने कहा कि इस पर लगाम के लिए कड़े कदम उठाए गए हैं और मूलभूत सुविधाएं बढ़ाने की कोशिश भी की गई. साथ ही व्यापार करना आसान भी बनाया गया. उन्होंने बताया कि धार सिर्फ उद्योगों के हित में नहीं होना चाहिए, धार मजदूरों के हित में भी होनी चाहिए.
 
‘डिफेन्स मैन्यूफैक्चरिंग में आगे बढ़ना चाहता है भारत’
पीएम मोदी ने कहा कि भारत रक्षा क्षेत्र में आत्मनिर्भर होना चाहता है ताकि नौजवानों को देश में रोजगार मिल सके. पीएम ने कहा कि ‘डिफेन्स मैन्यूफैक्चरिंग में भारत आगे बढ़ना चाहता है क्योंकि हमारा बहुत बड़ा इम्पोर्ट बाहर का है. उन्होंने कहा कि यह ऐसा क्षेत्र है जो अर्थव्यवस्था के साथ साथ युवाओं को सबसे ज्यादा रोजगार मिल सकता है और मैं उसके लिए कई दिनों से मेहनत कर रहा हूं.’
 
‘अच्छे संबंध के लिए सार्क देशों को बुलाया’
मोदी ने कहा कि संबंध अच्छे रखने के लिए मैंने शपथ ग्रहण समारोह में सार्क देशों के सभी राष्ट्राध्यक्षों को बुलाया था. उन्होंने कहा कि जो भला मैं भारत का चाहता हूं वही भला मैं पड़ोसी देशों का भी चाहता हूं. पीएम ने कहा कि दुनिया में जहां जहां आतंकवाद है वहां उसके खिलाफ भारत खड़ा है.