नई दिल्ली. राजधानी में 13 साल की नाबालिग बच्ची के साथ बुरी तरीके से बलात्कार का मामला सामने आया है. घटना दक्षिण-पूर्वी दिल्ली के पुल प्रह्लादपुर इलाके की है. घटना के बार में बताया जा रहा है कि पीड़िता को बलात्कार के बाद रेलवे ट्रैक पर फेंक दिया गया. बच्ची के साथ यह क्रूरता कथित रूप से उसके पड़ोसी किशोर ने की है. पीड़िता अनाथ और मानसिक रूप से विक्षिप्त है. उसे गंभीर हालत में एम्स में भर्ती कराया गया है, जहां उसकी हालत गंभीर बनी हुई है. 
 
दक्षिण-पूर्वी जिले के संयुक्त पुलिस आयुक्त आरपी उपाध्याय के अनुसार, ‘आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है और उसकी उम्र की जांच की जा रही है.’ पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि पीड़ित लड़की  पुल प्रह्लादपुर के पास एक गांव में अपने रिश्तेदारों के साथ रहती है. वह 17 मई से लापता थी, उसे खोजने के तमाम प्रयास असफल रहे थे.
 
18 मई को तड़के स्थानीय लोगों ने बच्ची को बेहोशी की हालत में रेलवे ट्रैक पर पड़ा देखा और पुलिस को सूचना दी. पुलिस ने उसे एम्स पहुंचाया, जहां डॉक्टरों ने उसके साथ बलात्कार होने की पुष्टि की. पुष्टि होने के बाद भारतीय दंड संहिता की विभिन्न धाराओं तथा पाक्सो कानून के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है.
 
अधिकारी ने बताया कि आरोपी की पहचान करने में पुलिस को एक हफ्ते का समय लगा, क्योंकि पीड़िता बयान देने की स्थिति में नहीं थी. स्थानीय लोगों से पूछताछ की गई, जिसमें पता चला कि बच्ची को अंतिम बार इस आवारा किशोर के साथ देखा गया था.