केरल. सीपीआईएम की अगुवाई वाली नई एलडीएफ सरकार की ओर से पिनराई विजयन आज 22वें मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ लेंगे. शपथ ग्रहण समारोह का कार्यक्रम दोपहर चार बजे रखा गया है. रिपोर्ट्स के अनुसार ठीक इसके बाद शाम साढ़े छह बजे कैबिनेट की पहली बैठक भी निर्धारित की गई है. समारोह को लेकर जोर-शोर से तैयारिया शुरू हैं, साथ ही सुरक्षा के भी पुख्ता इंतजाम किए गए हैं. शपथ ग्रहण समारोह में सीपीआईए के महासचिव सीताराम येचुरी और पोलित ब्यूरो सदस्य प्रकाश करात भी मौजूद रहेंगे. 
 
‘जनता की होगी सरकार’ 
केरल के मुख्यमंत्री बनने जा रहे पिनरई विजयन ने कहा कि केरल में नई एलडीएफ सरकार जनता की सरकार होगी और लोगों के कल्याण के लिए काम करेगी. जाति, धर्म और राजनीतिक दायरे का बंधन नहीं होगा और हम इसी भावना के साथ काम करेंगे. उन्होंने कहा कि इस सरकार में हर किसी का हक है और समाज को समझना चाहिए कि अगर लोग पीठ दिखाएंगे तो लोकतांत्रिक प्रक्रिया पूरी नहीं होगी. यह लोगों का सहयोग है जो लोकतंत्र को मजबूत बनाता है. विजयन ने कहा कि यह सरकार न्याय, भाईचारे, समृद्धि और विकास के लिए काम करेगी.
 
‘कई स्तरों पर भ्रष्टाचार है’
भ्रष्टाचार पर सरकार के रुख के बारे में विजयन ने कहा कि कई स्तरों पर भ्रष्टाचार है. मेरे संज्ञान में यह बात आई है कि कुछ लोग यह कहते हुए घूम रहे हैं कि वे मुख्यमंत्री के आदमी हैं. ये लोग शायद काम करने के मेरे तरीके को जानते नहीं हैं. इस तरह के लोगों को किनारे किया जाएगा और हमें सावधान रहना होगा. उन्होंने यह भी कहा कि निजी कर्मियों को भी मंत्रियों जैसा होना चाहिए, भ्रष्टाचार से ऊपर.