नई दिल्ली. खूंखार आतंकी संगठन की और से पिछले हफ्ते जारी एक वीडियो में दिखे दो भारतीय आतंकियों की पहचान कर ली गई है. ये दोनों आतंकी इंडियन मुजाहिदिन के भगोड़े हैं और दोनों आतंकियों के खिलाफ मुकदमा चलाने मांग की गई थी. अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस के अनुसार यूपी पुलिस द्वारा उनके परिवारवालों से बात करने पर अबु राशिद अहमद और मोहम्मद बड़ा साजिद की पहचान हुई है. दोनों आतंकी आजमगढ़ के रहने वाले हैं.
 
बीते हफ्ते जारी बाबरी, कश्मीर, गुजरात और मुजफ्फरनगर का बदला लेने वाला वीडियो दक्षिण-एशिया जिहादियों पर आधारित आईएस का पहला वीडियो है. इस वीडियो में महाराष्ट्र में ठाणे के इंजीनियर के छात्र रहे अमन टंडेल का इंटरव्यू भी दिखाया गया है. इस डॉक्यूमेंट्री में उसके दोस्त शाहीम टंकी और फहाद शेख की कुछ तस्वीरें भी हैं. आईएस के इन भगोड़ों ने कई बम धमाकों में अपनी भूमिका के लिए वीडियो में अपने द्वारा अंजाम दी गई आतंकी घटनाओं, भारत से भागने और योजनाओं के बारे में बात की है.
 
इस वीडियो में अबु राशिद भारत में मुस्लिम विरोधी सांप्रदायिक हिंसा के खिलाफ बदला लेने की बात कह रहा है. एनआईए के मुताबिक आजमगढ़ निवासी राशिद साल 2005 से 2008 तक इंडियन मुजाहिदिन द्वारा किए गए बम धमाकों का संदिग्ध है. मोहम्मद साजिद भी आजमगढ़ का है, साजिद अहमदाबाद और जयपुर में हुए सीरियल बम ब्लास्ट में संदिग्ध है.