चेन्नई. AIADMK प्रमुख जयललिता ने एक बार फिर तमिलनाडु के मुख्यमंत्री पद की शपथ ले ली. शपथ ग्रहण समारोह के बाद जयललिता की सरकार ने कुछ अहम ऐलान भी किए हैं. इसमें किसानों का कर्ज़ माफ करना और हर घर में 100 यूनिट बिजली मुफ्त देना शामिल है. इसके अलावा जयललिता ने सरकारी स्कूलों में बच्चों को नाश्ता देने का ऐलान भी किया है.
 
बता दें कि जयललिता ने छठीं बार और लगातार दूसरी बार तमिलनाडु की मुख्यमंत्री पद की शपथ ली है. उनके साथ 28 मंत्रियों ने भी शपथ ग्रहण की है. 68 साल की जयललिता ने अपने चौथे कार्यकाल के लिए शपथ ली है. उनका पहला कार्यकाल 1991 से 96 के बीच था जबकि दूसरा कार्यकाल 2001 से 2006 और तीसरा 2011 से 2016 के बीच रहा. 
 
तांसी मामले में उच्चतम न्यायालय द्वारा अयोग्य ठहराए जाने के कारण वह सितंबर 2001 से करीब छह महीने तक पद से दूर रही थीं. 29 सितंबर 2014 से 22 मई 2015 के बीच एक बाद फिर वह पद से दूर रहीं. इस बार भ्रष्टाचार के एक मामले में बेंगलुरू की एक अदालत द्वारा दोषी करार दिए जाने के कारण उन्हें कुर्सी छोड़नी पड़ी. बाद में कर्नाटक उच्च न्यायालय ने उस फैसले को खारिज कर दिया था.