तेहरान. ईरान की दो दिवसीय यात्रा पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का राजधानी तेहरान में गार्ड ऑफ ऑनर के साथ भव्य स्वागत किया गया है. उनके औपचारिक स्वागत में जन-गण-मन की गूंज भी सुनाई दी. पीएम मोदी के स्वागत के दौरान ईरान के राष्ट्रपति हसन रोहानी भी मौजूद थे. बता दें कि पीएम मोदी 15 सालों में ईरान की द्विपक्षीय यात्रा पर जाने वाले पहले प्रधानमंत्री हैं. वहीं विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप ने एक ट्वीट कर कहा है कि ईरान के साथ आगे बढ़ रहे हैं. रूहानी द्वारा किए गए औपचारिक स्वागत से आधिकारिक कार्याकलाप का आगाज है. 
 
त्रिकोणिय चाबहार पोर्ट पर समझौता
रिपोर्ट्स के अनुसार सोमवार को पीएम तेहरान में ईरान के बड़े नेताओं से मुलाकात करेंगे. इसके अलावा वो भारत, अफगानिस्तान और ईरान के बीच परिवहन और चाबहार पोर्ट को लेकर एक समझौते पर हस्ताक्षर भी करेंगे. सूत्रों की माने तो भारत 18 महीनों के भीतर विकसित करेगा जिसके बाद भारत सीधे ईरान से व्यापार कर सकेगा और इसी पोर्ट के जरिए भारत अपना माल अफगानिस्तान को भी भेज सकता है. भारत ईरान के बीच ये दोस्ती पाकिस्तान और चीन के लिए करारा झटका साबित होगा. बता दें कि चीन पाकिस्तान के ग्वादर बंदरगाह को विकसित कर रहा है. इसके अलावा पाकिस्तान अफगानिस्तान और भारत के बीच व्यापारिक रिश्तों में भी मुश्किलें पैदा कर रहा है. 
 
धर्मगुरु खमैनी से करेंगे मुलाकात
पीएम मोदी और राष्ट्रपति रोहानी के बीच आज ही उच्च स्तरीय बैठक होगी. जिसमें मोदी  ईरान के साथ व्यापार, निवेश और उर्जा के क्षेत्र मे अपसी रिश्ते को ऊंचाई पर ले जाने के लिए समझौते करेंगे. इस दौरान मोदी ईरान के सबसे बड़े धर्मगुरु अयातुल्ला खामेनई से भी मुलाकात करेंगे. उन्हें ईरान का सबसे ताकतवर नेता भी माना जाता है.