नई दिल्ली. बीती रात शब-ए-बारात के अवसर पर बाइक सवार युवकों ने जमकर हंगामा मचाया. युवको ने बाइकों से जमकर स्टंटबाजी की. कई बाइकर्स ने सरेआम कानून का मजाक उड़ाते हुए दिखे. हालांकि पुलिस ने कईयों को चालान भी काटे. शब-ए-बारात के मौके पर पुलिस ने दिल्ली में चप्पे-चप्पे पर सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए. 
 
शाम से लेकर आधी रात तक बाइक सवार युवा सड़कों पर तेज रफ्तार में बाइक दौड़ाते रहे. दिल्ली रोड जली कोठी चौराहे से लेकर मेट्रो प्लाजा तक बाइक सवार युवक समूह बनाकर आधी रात तक हुड़दंग मचाते रहे. पुलिस अधिकारी भी शहरभर में गश्त करते रहे, लेकिन बाइक सवार युवक थमे नहीं. हापुड़ रोड पर युवक बाइकों को आड़ी तिरछी लहराकर चलाते रहे. कई बार तो पुलिस फोर्स के सामने ही ये युवकों फर्राटे भरते हुए निकल गए.
 
दिल्ली के उप राज्यपाल ने की थी अपील
दिल्ली के उप राज्यपाल नजीब जंग ने कहा था कि पिछले कुछ वर्षों से दिल्ली की सड़कों पर शब ए बारात त्योहार पर युवा उपद्रव करते हैं. उन्होंने कहा था कि शब ए बारात के पाक अवसर पर 22 मई को रात्रि 9 बजे से 23 मई को प्रातः 6 बजे तक कोई भी आक्रामक और गैरकानूनी व्यवहार सहन नहीं क्या जाएगा.
 
क्या है ‘शब-ए-बारात’
बता दें ‘शब-ए-बारात’ दो शब्दों, शब और बारात से मिलकर बना है. ‘शब’ का अर्थ रात होता है. वहीं बारात का अर्थ बरी होना होता है. मुसलमानों के लिए यह रात बहुत फजीलत (महिमा) की रात होती है. कहा जाता है इस दिन विश्व के सारे मुसलमान अल्लाह की इबादत करते हैं. वे दुआएं मांगते हैं और अपने गुनाहों की तौबा करते हैं. अरब में यह लयलातुल बराह या लयलातून निसफे मीन शाबान के नाम से जाना जाता है. जबकि भारत, पाकिस्तान, बांग्लादेश, ईरान, अफगानिस्तान और नेपाल में ‘शब-ए-बारात’ के नाम से जाना जाता है.