नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा के निमंत्रण पर 7 और 8 जून को अमेरिका की यात्रा पर जाएंगे. विदेश मंत्रालय ने एक बयान में बताया कि प्रधानमंत्री 7 और 8 जून को अमेरिका में होंगे. उनकी यात्रा के दौरान दोनों देशों के बीच विभिन्न क्षेत्रों में द्विपक्षीय सहयोग को बढ़ाने के संबंध में हुई प्रगति पर विचार-विमर्श होगा. 
 
भारत-अमेरिका के द्विपक्षीय रणनीति में आएगी मजबूती
बयान में कहा गया है, “बीते दो सालों में प्रधानमंत्री मोदी और राष्ट्रपति ओबामा के नेतृत्व में भारत-अमेरिका के द्विपक्षीय रणनीतिक सहयोग में मजबूती आई है. प्रधानमंत्री की आगामी यात्रा का मकसद अर्थव्यवस्था, ऊर्जा, पर्यावरण, रक्षा और सुरक्षा जैसे क्षेत्रों में द्विपक्षीय सहयोग की प्रगति को और मजबूत बनाना है.” 
 
स्पीकर के न्योते पर जा रहे हैं अमेरिका
अमेरिकी प्रतिनिधिसभा के स्पीकर पॉल रायन ने अमेरिकी कांग्रेस के दोनों सदनों की संयुक्त बैठक को संबोधित करने का प्रधानमंत्री मोदी को न्योता दिया है, जिसे उन्होंने स्वीकार कर लिया है. बयान में कहा गया है कि यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री महत्वपूर्ण अमेरिकी कंपनियों के मुख्य कार्यकारी अधिकारियों से भी मिलेंगे.
 
ऐसा करने वाले छठे प्रधानमंत्री
जवाहर लाल नेहरू, राजीव गांधी, नरसिम्ह राव, अटल बिहारी वाजपेयी और मनमोहन सिंह के बाद नरेंद्र मोदी देश के छठे प्रधानमंत्री होंगे, जो अमेरिकी कांग्रेस के संयुक्त सत्र को संबोधित करेंगे. पीएम बनने के बाद से मोदी की यह चौथी अमेरिकी यात्रा होगी. पहली यात्रा उन्होंने अक्टूबर 2014, दूसरी 2015 और तीसरी यात्रा अप्रैल 2016 में परमाणु सम्मेलन में शामिल होने के लिए की थी.