पठानकोट. पठानकोट एयरबेस आतंकी हमले को लेकर भारतीय सेना ने पाकिस्तान के आरोपों को खारिज कर दिया है. सेना ने पाकिस्तान के उस आरोप को सिरे से नकार दिया है जिसमें यह कहा गया था कि पठानकोट हमले में सेना के अंदरूनी लोगों का हाथ है. सेना ने यह भी कहा कि यह सीमा पार से एक सुनियोजित और प्रायोजित हमला था.
 
बता दें कि पठानकोट हमले की जांच करने के लिए पाकिस्तान से पांच सदस्यीय ज्वाइंट इनवेस्टिगेशन कमेटी मार्च में भारत आई थी.
 
NIA  ने अंदरूनी भूमिका से किया  इंकार
सेना के पश्चिमी कमान के कमांडिंग ऑफिसर लेफ्टिनेंट जनरल के जे सिंह ने एक समारोह के दौरान कहा कि आतंकवादी हमले की जांच करने वाली राष्ट्रीय जांच एजेंसी एनआईए ने किसी अंदरूनी व्यक्ति की भूमिका से इंकार किया है. उन्होंने कहा एनआईए ने गहन जांच की है. इसके अलावा उन्होंने पाकिस्तान से भारत आई जेआईटी के बयान को गलत बताया है.
 
जांच के दौरान कई आतंकियों के नाम
इसके अलावा केजे सिंह ने यह भी कहा कि हमले की जांच के दौरान जैश-ए-मोहम्मद के कई आतंकियों का नाम सामने आया है और उनके खिलाफ रेड कॉर्नर जारी करने के लिए भी कहा गया है.
 
 बता दें कि इस साल जनवरी में पठानकोट एयरबेस पर आतंकवादियों ने हमला किया था जिसमें मसूद अजहर का नाम सामने आया था. भारत की तरफ से मसूद के खिलाफ पाकिस्तान को कई सारे सबूत भी दिए जा चुके है.