नई दिल्ली. शब-ए-बरात के दौरान सड़कों में होने वाले स्टंट और हुड़दंग पर जामा मस्जिद के शाही इमाम सैयद अहमद बुखारी ने अपनी चिंता जाहिर करते हुए कहा है कि ये सब गैर इस्लामी है. उन्होंने कहा कि इस तरह के स्टंट से मुसलमानों की छवी खराब होती है. बुखारी ने लोगों से अपील की है कि वे अपने बच्चों पर नजर रखें और इन सबसे दूर रखें.
 
शाही इमाम का कहना है कि स्टंट करना और हुड़दंग मचाना इस रात के खिलाफ है. यह इबादत की रात है. यह कानून और शरियत के हिसाब से भी सही नहीं है. 
 
बता दें कि 22 मई को शब-ए-बरात है. पिछले कुछ सालों में सड़कों पर हुड़दंग जरूर कम हुआ है, लेकिन अभी भी कई युवा ऐसे हैं जो इन गतिविधियों में शामिल होते हैं.
 
प्रमुख इस्लामी संगठन जमीयत-उलेमा-ए-हिंद के प्रवक्ता मौलाना अब्दुल हामिद नोमानी ने कहा, ‘शब-ए-बरात में कुरान पढ़ना या नफिल नमाजें अदा करनी चाहिए, लेकिन मौजूदा दौर में जिस तरह से हुड़दंग मचाया जाता है और स्कूटर रेसिंग की जाती है, यह शरियत के तौर पर गैर इस्लामी है और सामाजिक तौर पर भी गलत असर डालती है. महजब के नाम पर ऐसा करना गलत है. बेहतर तो यह है कि लोग घरों में इबादत करें’.