तिरुवनन्तपुरम. केरल में 140 सीटों पर हुए विधानसभा चुनाव 2016 के मतों की गिनती अभी जारी है. लेकिन मतगणना के शुरुआती रूझानों में जहां लेफ्ट को बढ़त मिलती दिख रही है. वहीं कांग्रेस को बड़ा झटका लगने का आसार है. यहां लेफ्ट डेमोक्रेटिक फ्रंट पार्टी 91 सीटों पर आगे है. वहीं यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट 45 सीटों पर बढ़त बनाए हुए है. जहां बीजेपी 2 सीटों पर आगे चल रही है तो वहीं कांग्रेस का अब तक खाता भी नहीं खुला है.
 
केरल में इस बार कांग्रेस नीत सत्तारूढ़ यूडीएफ और माकपा नेतृत्व वाले विपक्ष एलडीएफ के बीच चुनावों में कांटे की टक्कर है.  राज्य में इस बार के चुनावों पर लोगों की नजरें बीजेपी पर भी हैं, जिसने इस बार राज्य में अपना खाता खोलने के लिए पूरी ताकत झोंकी है. विधानसभा की 140 सीटों के लिए इस बार 109 महिला उम्मीदवारों सहित कुल 1,203 उम्मीदवारों ने अपनी किस्मत आजमाई है. चुनाव लड़ रहे उम्मीदवारों में मुख्यमंत्री ओमान चांडी, विपक्षी नेता और 93 वर्षीय वीएस अच्युतानंदन, पोलितब्यूरो के सदस्य पिनरई विजयन, केरल कांग्रेस (मणि) के प्रमुख एवं पूर्व वित्त मंत्री के एम मणि (83) सहित अन्य शामिल हैं.
 
पिछले विधानसभा चुनाव में सीपीएम ने जहां 45 सीटों पर कब्जा किया था तो वहीं कांग्रेस ने 38 सीटों पर. एमयूएल ने 20 सीटों पर जीत दर्ज की थी और सीपीआई ने 13 सीटों पर.