नई दिल्ली. मानसून से पहले सूखे और पीने के पानी की समस्या से जूझ रहे 10 राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की. बैठक के बाद केंद्रीय कृषि मंत्री राधामोहन सिंह ने बताया कि 10 राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ पीएम की बैठक 2 घंटे तक चली. बैठक में देश में पड़ रहे सूखे और पीने के पानी की कमी का मुद्दा छाया रहा. 
 
प्रधानमंत्री ने मुख्यमंत्रियों को लोगों को पीने का पानी उपलब्ध कराने के लिए उचित कदम उठाने के आदेश दिए, साथ ही इस मामले में केंद्र के उचित सहयोग का भरोसा भी दिया. बैठक के दौरान पीएम ने सभी सीएम को हिदायत देते हुए कहा कि हमें राज्यों मे पानी के संरक्षण और भंडारण पर जोर देना चाहिए, ताकि बरसात का पीने योग्य पानी बेकार ना जाएं. बरसात का ये पानी प्रोसेसिंग के बाद सूखे प्रभावित क्षेत्र के लोगों तक समय रहते पहुंचाया जा सकें.
 
पीएम ने बैठक के दौरान मानसून पर भी चर्चा की. पीएम मोदी ने कहा कि इस साल वैसे तो अच्छे मानसून के आसार है, लेकिन मानसून में कमी होने पर राज्यों को इससे निपटने के लिए तैयार रहना चाहिए. पीएम ने मानसून की जानकारी मोबाइल एप्प पर भी उपलब्ध कराने की बात कही. साथ ही खेती में तकनीक के ज्यादा इस्तेमाल पर भी जोर दिया.