नई दिल्ली. पठानकोट हमला मामले में भारत इंटरपोल से पाकिस्तानी आतंकी मसूद अजहर के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस जारी करवाने में कामयाब हो गया है.पठानकोट मामले में भारत ने पाकिस्तान को इस हमले में नए सबूत दिए है. राष्ट्रीय जांच एजेंसी का कहना है कि भारत, पाकिस्तान को इतने सबूत दे चुका है कि पाकिस्तान इस बात से अब इनकार नहीं कर सकता कि हमला उसके यहां से हुआ था. 
 
गृह मंत्रालय के मुताबिक पठानकोट हमले के मास्टरमाइंड माने जाने वाले मसूद अजहर और उसके भाई अब्दुल रऊफ के खिलाफ पठानकोट हमला के मामले में रेड कॉर्नर नोटिस जारी हो गया है. एनआईए के मुताबिक उसने पाकिस्तान को अनुपूरक पत्र भेजकर वहां इस मामले की जांच को आगे बढ़ाने को कहा है.
 
सूत्रों के मुताबिक एनआईए ने पाकिस्तान को बताया है कि शाहिद लतीफ ने कैसे आतंकवादियों की मदद की थी. एनआईए ने शाहिद के खिलाफ भी रेड कॉर्नर नोटिस जारी करवाया है. कासिफ जान के खिलाफ भी रेड कॉर्नर नोटिस जारी हुआ है और इस बात के सबूत दिए गए हैं कि आतंकी हमले के समय कासिफ से बात कर रहे थे. 
 
इस बीच इस खबर पर राजनीतिक विवाद शुरू हो गया है कि शाहिद लतीफ उन 25 आतंकियों में था, जिन्हें यूपीए सरकार ने 2010 में पाकिस्तान के साथ सद्भावना दिखाते हुए छोड़ दिया था. हालांकि एनआईए का कहना है कि शाहिद लतीफ अपने हिस्से की सजा काट चुका था, इसलिए उसे रिहा किया गया था.