भोपाल. एनआईए से मालेगांव बम धमाके में क्लीन चिट पाने वाली साध्वी प्रज्ञा ठाकुर बुधवार को उज्जैन में सिंहस्थ कुंभ स्नान करेंगी. बुधवार सुबह ही साध्वी प्रज्ञा उज्जैन के लिए रवाना हो गई हैं. बता दें कि साध्वी प्रज्ञा ने कुंभ में सन्ना की मांग करते हुए अस्पताल में आमरण अनशन  पर बैठ गई थीं.
 
साध्वी के साथ एक एडवांस लाइफ सपोर्ट एंबूलेंस और एक डॉक्टर को भी उज्जैन भेजा जाएगा. क्षिप्रा में स्नान के बाद वे अपने गुरु से भी मुलाकात करेंगी. स्नान और पूजन के बाद शाम होने से पहले उन्हें वापस भोपाल लाया जाएगा. 
 
स्नान के लिए CM को लिखा खत
कुंभ में स्नान करने के लिए साध्वी ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को पत्र लिखा था. इस पत्र में साध्वी ने चेतावनी दी थी उन्हें 21 मई तक सिंहस्थ में स्नान करने की अनुमति नहीं दी गई तो वे अपने प्राण त्याग देंगी. साध्वी ने सोमवार सुबह से भूख हड़ताल भी शुरू कर दी थी. 
 
संघ के निर्देश पर मिली ईजाजत
बताया जाता है साध्वी की चेतावनी के बाद मंगलवार को दोपहर में संघ की ओर से भी मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से इस संबंध में संपर्क किया गया था. इसके बाद मंत्रालय में करीब दोपहर 2.30 एक उच्चस्तरीय बैठक की गई. जिसमें साध्वी को बुधवार को तड़के उज्जैन भेजने का निर्णय लिया गया. इस फैसले के बाद जिला प्रशासन को साध्वी को उज्जैन ले जाने की व्यवस्थाएं करने के निर्देश जारी किए गए.
 
21 मई को होगा कुंभ का समापन
बता दें कि उज्जैन में 22 अप्रैल से सिंहस्थ कुंभ शुरू है और 21 मई को इसका समापन हो जाएगा. इस तरह शताब्दी के दूसरे कुंभ के समापन में सिर्फ पांच दिन ही बचे हैं. साध्वी प्रज्ञा हर हाल में सिंहस्थ कुंभ स्नान करने उज्जैन जाना चाहती हैं, लिहाजा उन्होंने अनशन शुरू कर दिया है.