नई दिल्ली. निरंकारी समुदाय के प्रमुख हरदेव सिंह का अंतिम संस्कार हो चुका है. निगम बोध घाट पर बाबा हरदेव सिंह का अंतिम संस्कार किया गया. बाबा के अंतिम दर्शन के लिए हजारों लोग पहुंचे थे. बता दें कि 13 मई को कनाड़ा में एक सड़क हादसे में निरंकारी बाबा गंभीर रूप से घायल हो गए थे. उन्हें इलाज के लिए तुरंत अस्पताल ले जाया गया, जहां उनका निधन हो गया. 
 
क्या हुआ था उस दिन
बाबा हरदेव सिंह कार में न्यूयॉर्क से कनाडा के मॉन्ट्रियल जा रहे थे. उनके दोनों दामाद अवनीत और सन्नी उनके साथ थे. सन्नी खुद गाड़ी चला रहे थे. कार की रफ्तार तेज थी. भारतीय समयानुसार सुबह लगभग साढ़े पांच बजे कार अचानक पलट गई. हादसे में तीनों घायल हो गए. तीनों को अस्पताल पहुंचाया गया. जहां 62 वर्षीय बाबा हरदेव सिंह और उनके दामाद अवनीत सेतिया को अस्पताल में मृत घोषित किया गया.
 
बाबा हरदेव सिंह की पत्नी संभालेंगी गद्दी
निरंकारी बाबा हरदेव सिंह जी के निधन के बाद अब निरंकारी मिशन के श्रद्धालुओं का मार्ग दर्शन उनकी पत्नी सविंद्र कौर जी करेंगी. निरंकारी मिशन की परंपरा के अनुसार बीते तीन गुरु एक ही परिवार के हुए हैं. इससे पहले भी निरंकारी बाबा हरदेव सिंह जी उनकी पत्नी सविंद्र कौर जी और उनकी माता कुलवंत कौर जी स्टेज पर बैठकर श्रद्धालुओं का मार्ग दर्शन करते थे. बाबा हरदेव सिंह जी का कोई बेटा नहीं है, ऐसे में अटकले चल रही थी कि उनके बड़े दामाद संदीप खिंडा को भी यह जिम्मेदारी सौंपी जा सकती है, लेकिन अब साफ हो गया है कि बाबा हरदेव जी की पत्नी ही कमान संभालेंगी. 
 
गृहमंत्री ने भी किए बाबा के अंतिम दर्शन
देश के गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने भी मंगलवार को बाबा जी के अंतिम दर्शन किए. वहीं, दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल, डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया व हरियाणा पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्‌डा के अलावा कई नेताओं ने बाबा जी के अंतम दर्शन किए और उन्हें श्रद्धांजलि दी.