नई दिल्ली. दिल्ली की लाइफ लाइन कही जाने वाली मेट्रो ट्रेनें अब बिना ड्राइवर के सफर करने को तैयार हैं. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और केंद्रीय शहरी वेंकैया नायडू ने मंगलवार को इसके ट्रायल के लिए हरी झंडी दिखा दी है. बिना ड्राइवर वाली मेट्रो का ट्रायल मजलिस पार्क-शिव विहार कॉरिडोर पर किया जा रहा है.
 
अपने संबोधन में नायडू और केजरीवाल ने जोर दिया कि मेट्रो शहर में यातायात और प्रदूषण संबंधी चिंताओं का बेहतर जवाब है. 
 
आंखों को भाने वाली खूबसूरती से सजी ड्राइवर लेस मेट्रो में सेफ्टी के भी फुलप्रूफ इंतजाम हैं. मेट्रो प्रशासन का तो कहना है कि बिना ड्राइवर की मेट्रो ट्रेन ड्राइवर वाली मेट्रो से ज्यादा सुरक्षित यात्रा की गारंटी देगी.
 
बता दें कि बिना ड्राइवर वाली देश की पहली मेट्रो ट्रेन को दिसंबर 2016 में चलाने की तैयारी है, हालांकि शुरुआत में ट्रेन में एहतियात के तौर पर ड्राइवर भी रहेंगे, लेकिन सब कुछ ठीक रहने पर ट्रेनें बिना ड्राइवर के चलेंगी.