नई दिल्ली. बीजेपी सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर रघुराम राजन पर एक बार फिर वार किया है. इस बार स्वामी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को खत लिखकर राजन को पद से हटाने की मांग की है. उन्होंने कहा है कि राजन मानसिक रूप से पूरी तरह भारतीय नहीं हैं, उन्हें जल्द से जल्द बर्खास्त किया जाए.
 
उनका कहना है कि आरबीआई गवर्नर ने भारतीय अर्थव्यव्स्था को जानबूझकर ध्वस्त किया है. स्वामी ने कहा, ‘मैं राजन को पद से हटाने की मांग इसलिए कर रहा हूं, क्योंकि उन्होंने जानबूझकर भारतीय अर्थव्यवस्था को ध्वस्थ करने की कोशिश की है. वह मानसिक तौर पर पूर्ण रूप से भारतीय नहीं हैं’.
 
बता दें कि इससे पहले भी स्वामी ने राजन को पद से हटा कर शिकागो भेजने की बात कही थी. उन्होंने कहा था, ‘राजन की वजह से जीडीपी ग्रोथ कम हो गई है, इन्हें शिकागो भेज देना चाहिए’.
 
कश्मीर में धारा 370 पर भी बोले स्वामी
 
सुब्रमण्यम स्वामी ने जम्मू कश्मीर में लगी धारा 370 पर कहा कि केंद्र की मोदी सरकार अगले साल के अंत तक जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाली संविधान की धारा 370 को खत्म कर देगी. उन्होंने कहा कि दुनिया में अगर कहीं मुसलमान सुरक्षित हैं तो वह भारत ही है. स्वामी ने एक टीवी चैनल में एक इंटरव्यू के दौरान यह बात कही. 
 
स्वामी ने कहा कि भारत एक ऐसा राष्ट्र है जहां पर मुस्लिम सबसे अधिक सुरक्षित हैं. उनका कहना था कि कश्मीर पंडितों को घाटी में वापस बसाने के लिए प्रयास किए जाने की जरूरत है मगर इसके लिए क्या किया जा सकता है. इस मामले में उन्होंने घाटी में सुरक्षा बहाली और कश्मीरी पंडितों को भरोसा दिलाने की बात पर जोर दिया.
 
साल के अंत तक शुरू हो जाएगा राम मंदिर निर्माण कार्य: स्वामी
 
स्वामी ने कुछ दिन पहले दिए गए अपने बयान को दोहराते हुए कहा कि इस साल के अंत तक अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण का कार्य फिर से शुरू कर दिया जाएगा. उन्होंने कहा कि सभी सांसद भी यह चाहते हैं कि सुप्रीम कोर्ट अयोध्या मामले पर सुनवाई रोजाना के आधार पर करे, अगर ऐसा होता है तो फैसला कुछ ही महीनों में आ जाएगा और निर्माण कार्य भी जल्द से जल्द शुरू कर दिया जाएगा.