भोपाल. एनआईए से मालेगांव बम धमाके में क्लीन चिट पाने वाली केंद्रीय जेल में बंद साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने उज्जैन में सिंहस्थ कुंभ स्नान करने की मांग करते हुए अस्पताल में आमरण अनशन शुरू कर दिया है. साथ ही उन्होंने अपनी मांग को लेकर राष्ट्रपति व प्रधानमंत्री को भी पत्र लिखा है. साध्वी के करीबी भगवान झा ने बताया कि साध्वी इन दिनों खुशीलाल आयुर्वेदिक चिकित्सालय में इलाज के लिए भर्ती हैं. उन्होंने सिंहस्थ कुंभ में स्नान के लिए देवास कोर्ट में आवेदन किया था. कोर्ट ने अनुमति दे दी है, मगर पुलिस प्रशासन सुरक्षा का बहाना कर उन्हें उज्जैन नहीं भेज रहा है. झा के अनुसार, प्रज्ञा ठाकुर ने उज्जैन में स्नान की व्यवस्था न किए जाने के चलते सोमवार से अस्पताल में ही अनशन शुरू कर दिया है. साथ ही अपनी भावनाओं से अवगत कराते हुए उन्होंने राष्ट्रपति व प्रधानमंत्री को भी पत्र लिखा है. साध्वी ने भोजन के साथ दवाओं का भी त्याग कर दिया है. साथ ही उन्होंने कहा कि अगर उन्हें 21 मई तक उज्जैन नहीं भेजा गया तो वह शरीर त्याग देंगी.
 
बता दें कि उज्जैन में 22 अप्रैल से सिंहस्थ कुंभ शुरू है और 21 मई को इसका समापन हो जाएगा. इस तरह शताब्दी के दूसरे कुंभ के समापन में सिर्फ पांच दिन ही बचे हैं. साध्वी प्रज्ञा हर हाल में सिंहस्थ कुंभ स्नान करने उज्जैन जाना चाहती हैं, लिहाजा उन्होंने अनशन शुरू कर दिया है.