नई दिल्ली. टीवी अभिनेत्री प्रत्युषा बनर्जी के खुदखुशी का मामला सुप्रीम कोर्ट में पहुंच गया है. प्रत्युषा के माता-पिता ने सुप्रीम कोर्ट में अर्जी दाखिल कर राहुल राज सिंह कि अग्रिम ज़मानत ख़ारिज करने कि मांग की है.
 
अपनी याचिका में प्रत्युषा बनर्जी के पिता ने बॉम्बे हाई कोर्ट के फैसले को चुनोती दी है. याचिका में कहा है कि राहुल को ज़मानत मिलने से इस मामले में कई अहम सबूतों को वो मिटाया जा सकता है इतना ही नहीं वो सबूतों के साथ भी छेड़छाड़ कर सकता है.
 
परिजनों के मुताबकि ये खुदखुशी का मामला नहीं है, बल्कि राहुल ने अपने दोस्त के साथ मिलकर प्रत्युषा कि हत्या की है क्योंकि प्रत्युषा के शरीर पर कई गहरे जख्म के निशान है. याचिका में आरोप लगाया गया है कि पुलिस ने जानबूझ कर राहुल को गिरफ़्तार नहीं किया और उसे मौक़ा दिया कि वो हाई कोर्ट में याचिका दाखिल कर राहत पा ले.
 
याचिका में हाई कोर्ट के आदेश पर सवाल उठाया गया है और कहा गया है कि हाई कोर्ट ने जाँच एजेंसी के दलीलों को नकार दिया जबकि एजेंसी ने ज़मानत न देने के 15 मजबूत आधार दिए थे.
 
बता दें कि 1 अप्रैल को प्रत्युषा ने अपने घर में सुसाइड किया था. इस बीच जांच एजेंसी ने उनके बॉय फ्रेंड राहुल पर प्रत्युषा बनर्जी को खुदखुशी के लिए उकसाने का सन्देश जताया है.