नई दिल्ली. चुनाव आयोग ने चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन के मामले में तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जे जयललिता और डीएमके अध्यक्ष एम. करुणानिधि को कारण बताओ नोटिस थमाया है. आयोग ने कहा कि इनके चुनावी घोषणापत्र आचार संहिता का पूरी तरह से पालन नहीं करते हैं.
 
दोनों नेताओं कोेक ही प्रकार के नोटिस थमाये गे हैं. नोटिस में कहा गया है कि दोनों दल के घोषणापत्र पहली नजर में आयोग के दिशानिर्देशों को पूरी तरह पूरा नहीं करते. चुनाव आयोग ने दोनों नेताओं को 15 मई की शाम पांच बजे तक जवाब देने का समय दिया है. दोनों को आयोग के दिशानिर्देशों का पालन नहीं करने को लेकर अपने रूख को स्पष्ट करना है. साथ ही इन दलों को घोषणापत्र में किए गए वादों का औचित्य बताना है. राज्य में सोमवार को चुनाव होना है.
 
साथ ही आयोग ने चेतावनी दी है कि अगर दोनों नेता कारण बताओ नोटिस का जवाब नहीं देते हैं तो यह उनके दलों के खिलाफ आगे की उचित कार्रवाई करेगा. चुनाव आयोग ने शोकॉज नोटिस चुनावी घोषणापत्र को लेकर लोगों की शिकायत के आधार पर जारी किया गया है.