पटना. बिहार के सिवान में हिन्दी अखबार हिन्दुस्तान के ब्यूरो चीफ राजदेव रंजन की हत्या के सिलसिले में पुलिस ने आरजेडी के दबंग नेता और पूर्व सांसद मोहम्मद शहाबुद्दीन के करीबी गैंगस्टर उपेंद्र सिंह को हिरासत में लिया है. बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने भी दिन में हत्या में शहाबुद्दीन का नाम लिया था.
 
सूत्रों के मुताबिक राजदेव रंजन लगातार शहाबुद्दीन के बारे में लिखा करते थे. सिवान के बीजेपी सांसद ओमप्रकाश यादव के सहयोगी श्रीकांत भारती की नवंबर, 2014 में हुई हत्या के सिलसिले में अपनी रिपोर्ट्स में वो शहाबुद्दीन को इस हत्या में शामिल बता रहे थे.
 
राजदेव के पापा बोले, सबको पता है कि बेटे को किसने मरवाया
 
डीआईजी अजित राय ने भी मीडिया से बातचीत में कबूल किया है कि श्रीकांत भारती और राजदेव रंजन की हत्या के तौर-तरीके एक जैसे हैं और लगता है कि दोनों हत्याओं को प्रोफेशनल हत्यारों ने अंजाम दिया है. पेशे से किसान राजदेव रंजन के पिता राधाकृष्ण चौधरी ने मीडिया से बातचीत में कहा है कि वो हत्याकांड की सीबीआई से जांच चाहते हैं क्योंकि सबको पता है कि ये हत्या किसके इशारे पर हुई है.
 
पुलिस अधिकारियों ने ये माना है कि राजदेव रंजन लगातार श्रीकांत भारती और दो भाइयों को एसिड से जलाने के मामले पर लगातार शहाबुद्दीन के लिंक को अपनी रिपोर्ट्स से उजागर कर रहे थे. पुलिस ने ये भी पता लगाया है कि राजदेव की जहां हत्या हुई वो जगह उनके दफ्तर से घर के रास्ते में नहीं पड़ता. राजदेव को शाम में फोन करके उस तरफ किसी ने बुलाया था.
 
दूसरी तरफ, शहाबुद्दीन की पार्टी राष्ट्रीय जनता दल के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव ने पत्रकार हत्याकांड की कड़ी निंदा करते हुए कहा है कि बिहार में बढ़ रही आपराधिक वारदातें चिंता का विषय हैं.