नई दिल्ली.  अगस्ता वेस्टलैंड मुद्दे पर आरोप-प्रत्यारोप के बीच कांग्रेस ने मोदी सरकार पर विपक्ष, नौकरशाहों और न्यायाधीशों के फोन टैप करने का आरोप लगाया है. कांग्रेस प्रवक्ता आनंद शर्मा ने कहा कि बीजेपी सरकार में एक गंदा विभाग है, जो विपक्ष, सिविल सेवकों और न्यायाधीशों की फोन टैपिंग करने के लिए ओवरटाइम कर रहा है. उन्होंने आरोप लगाया कि सरकार वरिष्ठ नेताओं और नौकरशाहों को निगरानी में रख रही है, दस्तावेज तैयार कर रही, सरकारी एजेंसियों और मीडिया के आसानी से वश में आ जाने वाले हिस्से का इस्तेमाल कर रही है.
 
आनंद शर्मा ने बीजेपी पर राजनीतिक ब्लैकमेलिंग का खेल खेलने का आरोप लगाया. अगस्ता वेस्टलैंड मुद्दे पर बोलते हुए शर्मा ने कहा कि केंद्र सरकार झूठी अफवाहें फैला कर देश की जनता को गुमराह कर रही है.  उन्होंने हैरानी जताई कि रक्षा मंत्रालय, सीबीआई, ईडी के गोपनीय दस्तावेज चयनित रूप से कैसे कुछ चैनलों और एजेंसियों को लीक हो गए.  
 
शर्मा ने कहा कि सरकार को विपक्ष को निशाना बनाने की बजाए अपने वादों को पूरा करने पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए। जब आप अर्थव्यवस्था, रोजगार वृद्धि, गिरते निर्यात और निवेश की दर में कमी पर नजर डालते हैं तो वे बुरी तरह से नाकाम दिखते हैं। हाल ही में संपन्न सत्र के बारे में उन्होंने कहा कि बजट सत्र ने 24 कानून पारित किए। यह खुद में एक रिकॉर्ड है। साल 2014 में मोदी सरकार के सत्ता में आने के बाद से 80 से अधिक विधेयक पारित किए गए। यह एक परिपक्व विपक्ष का गवाह है। उन्होंने कहा कि यह प्रधानमंत्री मोदी द्वारा फैलाई जा रही इस झूठी अफवाह को भी खारिज करता है कि विपक्ष विधेयकों को पारित करने में रोड़े अटका रहा है। शर्मा ने कहा कि पारित किए गए कई विधेयकों को बीजेपी ने विपक्ष में रहने के दौरान अटका कर रखा था।