नई दिल्ली. महाराष्ट्र के लातूर में 5 लाख लीटर पानी ले जाने वाली ट्रेन का परिवहन शुल्क रेलवे ने जिले से मांगा है. रेलवे मंत्रालय ने जिला कलक्टर को पत्र लिखकर 4 करोड़ रुपये परिवहन शुल्क मांगा है.
 
मध्य रेलवे के महानिदेशक एस के सूद ने कहा कि प्रशासन के आग्रह पर हमने लातूर के कलक्टर को बिल भेज दिया है.उन्होंने बताया कि यह अब जिला प्रशासन पर है कि वह हमें शुल्क अदा करते हैं या फिर उचित माध्यम के तहत इसे माफ करने के लिए कहते हैं.
 
बता दें कि वाटर ट्रेन पांच लाख लीटर पानी लेकर महाराष्ट्र के मराठवाड़ा क्षेत्र में सूखा प्रभावित लातूर पहुंची. पानी से भरे 10 वैगन के साथ वाटर ट्रेन सोमवार को मिराज से रवाना हुई थी. एक वैगन में 50 हजार लीटर पानी था. ट्रेन के लातूर पहुंचने पर उसका स्वागत किया गया. रिपोर्ट्स के मुताबिक मराठवाड़ा क्षेत्र अब तक के सबसे भयंकर सूखे की मार झेल रहा है.
 
लातूर में जलापूर्ति के लिए ये रेलवे वैगन राजस्थान में कोटा से सोमवार को मिराज पहुंचे. इस बीच ट्रेन का पानी पाइपलाइन के जरिए स्टेशन के पास बावड़ी में खाली किया गया और फिर टैंकर्स के जरिए शहर तक पहुंचाया गया. रेलवे और राज्य सरकार के आदेशों के बाद इस ट्रेन को चलाया गया था.