नई दिल्ली. आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव पर चारा घोटाला मामले में सुप्रीम कोर्ट में 28 जुलाई से अंतिम बहस होगी. इस मामले पर नवंबर 2014 में झारखंड हाईकोर्ट ने लालू पर लगे कुछ आरोप हटा दिए थे, जिसके खिलाफ सीबीआई ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर कर सुनवाई की मांग की थी.
 
बता दें कि झारखंड हाईकोर्ट ने नवंबर 2014 में लालू को राहत देते हुए उन पर लगे घोटाले की साजिश रचने के आरोप हटा दिए थे. हाईकोर्ट ने अपने फैसले में कहा था कि एक ही अपराध के लिए किसी व्यक्ति को दो बार सजा नहीं दी जा सकती है. 
 
हालांकि हाईकोर्ट के फैसले में यह भी कहा गया था कि लालू यादव के खिलाफ आइपीसी की दो अन्य धाराओं के तहत मुकदमा जारी रहेगा. इस फैसले के आठ महीने बाद केंद्रीय जांच एजेंसी सीबीआई ने झारखंड हाईकोर्ट के फैसले के खिलाफ जुलाई में सुप्रीम कोर्ट में अपील दायर की थी.