मुंबई. भूमाता ब्रिगेड की अध्यक्ष और वुमन राइट्स एक्टिविस्ट तृप्ति देसाई गुरुवार सुबह कड़ी सुरक्षा के बीच मुंबई के हाजी अली दरगाह पहुंची. उन्होंने न सिर्फ दरगाह में प्रवेश किया, बल्कि मजार पर माथा भी टेका. उनके दरगाह में प्रवेश करने के बाद पुलिस और लोकल लोगों के बीच कहासुनी और झड़प हुई. विवाद बढ़ता देख दरगाह को दिनभर के लिए बंद कर दिया गया है.
 
इससे पहले तृप्ति ने ऐलान किया था कि वह अब बिना बताए हाजी अली दरगाह में घुसने की तैयारी में हैं. तृप्ति देसाई ने पुणे में मीडिया कर्मियों से बातचीत में यह जानकारी दी थी. देसाई ने इस संदर्भ में भूमाता ब्रिगेड के मुंबई के कार्यकर्ताओं से बातचीत भी की है.
 
उन्होंने कहा था कि 28 अप्रैल को जब हमने आंदोलन किया तो सबको बताकर किया. उम्मीद यह थी कि हमारा प्रवेश आसान हो. लेकिन परिणाम बिल्कुल उलट हुआ. लोगों ने हमें नहीं जाने दिया. पुलिस ने भी सहयोग नहीं दिया. ऐसे में अब हम छापामार तरीके से आंदोलन करेंगे और दरगाह में दर्शन के लिए जाएंगे. इसकी सूचना केवल पुलिस को देंगे और किसी को नहीं.