नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की डिग्री को लेकर आम आदमी पार्टी ने एक बार फिर उन पर हमला बोला है. पार्टी के नेता आशुतोष सिंह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि मोदी जी की जो डिग्री दिखाई गई है वह प्रिंटेड है लेकिन बाकी परिक्षार्थियों की मार्कशीट हाथों से बनी हुई है. उन्होंने सवाल किया कि क्या 1978 में कंप्यूटर थे.
 
उन्होंने कहा कि मोदी जी की डिग्री पर यूनिवर्सिटी का लोगो लगाया गया है वह मॉर्डन फॉन्ट का बनाया हुआ है जबिक असली डिग्रियों में फॉन्ट साधारण है. 
 
महाराष्ट्र स्थित सामाजिक कार्यकर्ता अनिल गलगली द्वारा सूचना के अधिकार के तहत डीयू से जवाब का हवाला देते हुए आशुतोष ने कहा कि यूनिवर्सिटी ने तब कहा था कि वह 3-4 दशक पुराने रिकॉर्ड नहीं रखती.
 
उन्होंने कहा कि मंगलवार को यूनिवर्सिटी के रजिस्ट्रार ने दावा किया कि उन लोगों ने दस्तावेजों को सत्यापित किया है और मोदी की डिग्री असली है. जबकि गलगली ने साल 2015 में आरटीआई के जरिए साल 1978 में स्नातक बने सभी लोगों की एक सूची मांगी थी, तो डीयू ने जवाब में कहा था कि वह 3-4 दशक पुरान रिकॉर्ड नहीं रखती.