नई दिल्ली. पिछले 11 दिनों से भूख हड़ताल पर बैठे जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय के छात्र उमर खालिद का स्वास्थ्य खराब होने की वजह से उन्हें एम्स में भर्ती कराया गया. इसके बाद खालिद ने भूख हड़ताल खत्म कर दी है. खालिद के साथ दो अन्य छात्र प्रतिम घोषाल और पार्थीपन को भी सोमवार को एम्स में भर्ती कराया गया है.
 
राजद्रोह के मामले में जमानत पर रिहा किए गए उमर को जेएनयू प्रशासन ने एक सेमेस्टर के लिए निष्कसित कर दिया है. खाना न खाने की वजह से खालिद के   खून में सोडियम-पोटेशियम स्तर में कमी हो गई थी. 
 
विश्वविद्यालय द्वारा सजा सुनाए जाने के विरोध में छात्रों ने अपनी भूख हड़ताल शुरू की थी, जिसमें जेएनयू छात्रसंघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार सहित सात छात्रों ने भूख हड़ताल वापस ले ली है जबकि 13 अन्य अभी भी अपनी भूख हड़ताल जारी रखे हुए हैं. जिनकी हड़ताल का आज 12वां दिन है.