कोलकाता. पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ मंच साझा करने पर अपनी सफाई दी है. ममता ने कहा है कि मोदी के साथ आईआईएससीओ के कार्यक्रम में इसलिए शामिल हुईं क्योंकि वह राज्य के विकास से जुडा मामला था.

ममता ने कहा कि, ‘यदि मैं नहीं जाती तो कुछ लोग कहते कि मुझमें शालीनता नहीं है. अगर मैं जाती हूं तो आप हिंदू-मुस्लिम की राजनीति करते हैं. हर चीज और हर तरह की झूठी अफवाह की सीमा होती है.’

ममता ने तृणमूल कांग्रेस छात्र परिषद (टीएमसीपी) की कार्यशाला में विद्यार्थियों को संबोधित करने के दौरान कहा, ‘हमें विधानसभा चुनाव में माकपा, भाकपा, भाजपा और कांग्रेस को हराना है.’

तृणमूल कांग्रेस की सुप्रीमो बनर्जी ने कहा कि उनकी सरकार सिद्धांतों पर काम करती है. उन्होंने कहा, ‘हम अपनी विचारधारा से समझौता नहीं कर सकते.

यदि मैं नहीं जाती तो कुछ लोग कहते कि मुझमें शालीनता नहीं है. अगर मैं जाती हूं तो आप हिंदू-मुस्लिम की राजनीति करते हैं. हर चीज और हर तरह की झूठी अफवाह की सीमा होती है: ममता

हमने केंद्र की संप्रग सरकार की जन विरोधी नीतियों के बाद उनसे अपना समर्थन वापस ले लिया था.’ ममता ने माकपा-भाकपा पर निशाना साधते हुए कहा कि वह वाम मोर्चा शासन के दौरान राज्य में हुई हिंसक घटनाओं को नहीं भूली हैं.’  

IANS