देहरादून. उत्तराखंड के चार धामों में 11 वें ज्योर्तिलिंग भगवान केदारनाथ मंदिर के कपाट आज से श्रद्धालुओं के लिए खोल दिए गए हैं. इसके अलावा विश्वप्रसिद्ध गंगोत्री धाम और यमुनोत्री धाम की यात्रा भी 6 महीने के लंबे समय के बाद आज से शुरू हो जाएगी. बाबा केदार की उत्सव डोली रविवार दोपहर ही ऊखीमठ में मौजूद श्री ओंकारेश्वर मंदिर से श्री केदारनाथ मंदिर पहुंच गई थी. जिसके बाद सोमवार सुबह से मंदिर में विधि विधान से भगवान केदारनाथ की पूजा अर्चना शुरू हो गई है. इसी के साथ देवभूमि में चार धाम यात्रा का श्रीगणेश हो गया है. 
 
दर्शन के लिए हजारों भक्त मौजूद
इस मौके पर बतौर मुख्य अतिथि राज्यपाल डॉ. के के पाल हेलीकॉप्टर से धाम पहुंचे और सबसे पहले बाबा केदार के दर्शन का पूजा अर्चना की. कपाट खुलने के दौरान धाम के हजारों की संख्या में भक्त मौजूद रहे थे. श्रद्धालुओं ने बताया कि इस बार धाम काफी अच्छी व्यवस्थाएं की गई हैं. कपाट खुलने के दौरान धाम में मौसम सुहावना रहा है. 
 
गंगोत्री धाम और यमुनोत्री धाम की यात्रा
मां गंगा की डोली अपने मायके मुखबा से रविवार को ही गंगोत्री धाम के लिए विदा हो गई थी. गंगोत्री धाम में विशेष पूजा अर्चना के बाद मां गंगा की डोली और मूर्ति को 12 बजकर 30 मिनट पर सिंह लग्न में मंदिर में स्थापित किया जाएगा. वहीं यमुनोत्री धाम के कपाट खुलने का शुभ मुहूर्त दोपहर सवा एक बजे है. दोनों धामों में बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं दर्शनों के लिए पहुंच गए हैं. 
 
जल्द खुलेगें बद्रीनाथ मंदिर का कपाट
इसके अलावा गढ़वाल हिमालय के चार धामों के नाम से प्रसिद्ध एक अन्य धाम बद्रीनाथ मंदिर के कपाट भी 11 मई को श्रद्धालुओं के लिए खुल जाएंगे. बता दें कि इन धामों के कपाट हर साल सर्दियों में इलाके के भारी बर्फबारी की चपेट मे रहने के कारण श्रद्धालुओं के दर्शन के लिए बंद कर दिए जाते हैं. जो गर्मियां आने पर दोबारा खोल दिए जाते हैं.