फैजाबाद. बाबरी मस्जिद मामले के मुख्य पैरोकार हाशिम अंसारी ने साधुओं के बयान पर नारजगी जताई है. हाशिम ने कहा है कि कोई भी कानून का मजाक न उड़ाए नहीं तो मुल्क तबाह हो जाएगा. बता दें कि सिहंस्थ कुंभ में साधु-संतों ने अयोध्या में राम मंदिर बनने की तारिख घोषणा कर दी है. उन्होंने ऐलान किया है कि 77 एकड़ की जमीन पर राम मंदिर के निर्माण का कार्य इस साल 9 नवंबर से शुरू हो जाएगा. 
 
हाशिम अंसारी ने कहा है कि मस्जिद को तो तोड़ ही दिया गया है, लेकिन अगर मंदिर बनाने की कोशिश हुई तो मंदिर तो बना लोगे लेकिन मुल्क तबाह और बर्बाद हो जाएगा. 
 
केशव मौर्य ने किया संतों के फैसले का सम्मान 
उत्तर प्रदेश में बीजेपी अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य ने संतों के फैसले का समर्थन किया. उन्होंने कहा कि हम सुप्रीम कोर्ट के फैसले का सम्मान करते हैं, लेकिन संतों का भी आदर करते हैं. उन्होंने कहा, ‘मैं चाहता हूं कि निर्माण कार्य आज से शुरू हो जाए. लेकिन सुप्रीम कोर्ट के सामने मामला विचाराधीन है, जब निर्णय हो जाए तो तब बनेगा. संतों ने जो कहा हम उसका आदर करते हैं’.
 
कौन हैं हाशिम अंसारी?
उत्तर प्रदेश के फैजाबाद में रहने वाले हाशिम अंसारी उस समय मशहूर हुए थे जब उन्होंने ढाई दशक पहले बाबरी मस्जिद गिराए जाने के खिलाफ अपनी आवाज़ बुलंद की थी और कोर्ट पहुंचे थे. हाशिम अंसारी तब से लगातार यह केस लड़ रहे हैं. खास बात यह है कि यह पूरा केस वे अपने दम पर लड़ रहे हैं. इलाहाबाद हाईकोर्ट ने जब पांच साल पहले राम लल्ला और बाबरी मस्जिद के लिए जमीन बांटने की बात कही थी, तब भी हाशिम चर्चा में आए थे. बाबरी केस अब भी सुप्रीम कोर्ट में है.