नई दिल्ली. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सूखे से निपटने के लिए की जा रही मीटिंग खत्म हो गई है. बैठक में अखिलेश यादव ने कहा कि हमारे पास पानी है, उसे लोगों तक पहुंचाने के लिए टैंकर चाहिए. डैम मुश्किल से 5 किलोमीटर दूर है. 
 
अखिलेश ने केंद्र से टैंकर के जरिए यूपी के सूखा प्रभावित इलाकों में पानी भेजे जाने की मांग की है. उन्होंने कहा, ‘सूखे से निपटने के लिए केंद्र और राज्य सरकार को मिलकर काम करना होगा. इस मीटिंग के बाद बुंदेलखंड के किसानों को उनका हक मिल सकेगा. हमने केंद्र से मुआवजा मांगा है’.
 
इससे पहले मोदी सरकार ने बुंदेलखंड के लिए ट्रेन के जरिए पानी भेजा था लेकिन अखिलेश सरकार ने इसे लेने से इनकार करते हुए कहा कि उन्हें पानी ढोने के लिए 10 हजार टैंकर चाहिए. इसके अलावा अखिलेश ने सरकार से सूखे से निपटने के लिए 10,600 करोड़ रुपये की मांग की है
 
बैठक में केंद्रीय कृषि मंत्री राधामोहन सिंह भी मौजूद थे. बता दें कि देश में सूखाग्रस्त तीन राज्यों के हालात पर समीक्षा करने लिए आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मुख्यमंत्रियों को बैठक के लिए बुलाया हुआ है. पहली मीटिंग उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के साथ हुई. मोदी अभी महाराष्ट्र और कर्नाटक के सीएम से भी मिलने वाले हैं.