नई दिल्ली. सहारा समूह के चेयरमैन सुब्रत राय सहारा 26 महीने 2 दिन बाद तिहाड़ जेल से बाहर आए हैं. रॉय को सुप्रीम कोर्ट ने उनकी मां छवि के अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए 4 हफ्तों के पैरोल पर रिहा किया है. सहाराश्री की मां का गुरुवार रात निधन हो गया था.
 
सुप्रीम कोर्ट ने सेबी के साथ निवेशकों का पैसा लौटाने के विवाद में जेल में बंद चल रहे सहारा श्री और उनके बहनोई अशोक रॉय चौधरी को पुलिस कस्टडी में 4 हफ्ते के पैरौल पर रिहा कर दिया है. कोर्ट ने उनके साथ दिल्ली पुलिस को सादी वर्दी में पुलिस वालों की ड्यूटी लगाने का भी आदेश दिया है.
 
सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि दिल्ली के पुलिस कमिश्नर तय करेंगे कि सहाराश्री के साथ कितने पुलिस वाले रहेंगे. कोर्ट ने ये भी कहा है कि पैरौल के दौरान सहाराश्री देश छोड़कर नहीं जाएंगे और पुलिस कस्टडी में ही रहेंगे. कोर्ट ने उन्हें लखनऊ, हरिद्वार और गंगासागर जाने की इजाजत दी है.