पटना: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का शराब पीने-पिलानेवालों के लिए कहा है कि बिहार में मैं रहूंगा या शराबखोरी करने वाले रहेंगे. नीतीश ने ये बात दरभंगा मेडिकल कॉलेज के ऑडिटोरियम में आयोजित सम्मान समारोह में कार्यक्रम के दौरान कही. नीतीश ने कहा कि किसी भी कीमत पर शराबबंदी के फैसले को वापस नहीं लिया जाएगा. उन्होंने कहा कि बिहार एक नया इतिहास रचने जा रहा है. नीतीश ने आगे कहा कि यह शराबबंदी बापू को समर्पित है क्योंकि यह बापू का सपना था जो अब साकार हो रहा है और फिर दुनिया बिहार से सीखेगी. 
 
फिल्म बनाएंगे नीतीश कुमार
यहीं नहीं अब नीतीश शराबबंदी पर एक फ़िल्म बनवाना चाहते हैं ताकि इसका सही तरीके से प्रचार-प्रसार हो सके या कह लीजिए नीतीश मॉडल की ब्रांडिंग. नीतीश का यह तेवर और आत्मविश्वास उनके मिशन 2019 की ओर इशारा करती है. नीतीश ने कहा है कि हमने सूबे में शराबंदी को लेकर सिर्फ नीति ही नहीं बनाई बल्कि इसके लिए वातावरण की भी निर्माण किया है. 
 
‘शराबबंदी से लोग टैक्स भी देंगे’
नीतीश कुमार ने कहा है कि शराबबंदी से भले ही तत्काल सरकारी खजाने को पांच हजार करोड़ की क्षति हुई है, लेकिन आने वाले समय में लोगों को खुशहाली से करोड़ों का राजस्व प्राप्त होगा. बचत होगी, तो खुशहाली आएगी. पैसे बचेंगे तो लोग टैक्स भी देंगे.
 
‘अब बरात में शराब पीकर नाच नहीं होता’
सीएम ने कहा कि पहले राज्य में हर जगह कोलाहल और हंगामा होता था. लेकिन आज गांव और शहरों के वातावरण में पूर्ण शांति है. झगड़ा, कोलाहल, हंगामा और मारपीट अब शाम होते ही नहीं शुरू होती है. उन्होंने कहा, ‘बारातों में लोग अब शराब पीकर नहीं नाचते हैं और न ही शराब पीकर लहरियाकट बाइक चलाते हैं. शराबबंदी से अपराधों में काफी कमी आई है और सड़क दुर्घटना में भी कमी आई है.