नई दिल्ली. अगस्ता वेस्टलैंड वीवीआईपी हेलीकॉप्टर मामले में गुरुवार को भी पूर्व एयरचीफ एस. पी. त्यागी से प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) पहुंच गए हैं. यहां उनसे मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट के तहत पूछताछ हो रही है. एस. पी. त्यागी से इससे पहले सीबीआई ने तीन दिनों तक पूछताछ की थी. बुधवार को सीबीआई ने इस मामले में एक और आरोपी गौकम खेतान से भी पूछताछ की थी. 
 
सीबीआई ने सोमवार और मंगलवार को कई घंटे तक त्यागी से पूछताछ की थी. पूछताछ के दौरान त्यागी ने स्वीकार किया की उन्होंने फिनमेक्केनिका के COO से  2005 में भारत में मुलाकात की थी. और तीन कंपनियों से उनके संबंघ हैं.  
 
इससे पहले पूछताछ में सीबीआई को त्यागी के रिटायरमेंट के बाद इटली के कई शहर जाने की जानकारी मिली है. इटली की मिलान कोर्ट के फैसले के बाद अगस्ता-वेस्टलैंड मामले में अपनी जांच की रफ्तार बढ़ाते हुए सीबीआई ने पूर्व एयर चीफ मार्शल एसपी त्यागी से तकरीबन दस घंटे पूछताछ की थी. बता दें कि त्यागी पर हेलीकॉप्टर डील में रिश्वत लेने का आरोप है.  
 
इससे पहले पूछताछ में सीबीआई को त्यागी के रिटायरमेंट के बाद इटली के कई शहर जाने की जानकारी मिली है. इटली की मिलान कोर्ट के फैसले के बाद अगस्ता-वेस्टलैंड मामले में अपनी जांच की रफ्तार बढ़ाते हुए सीबीआई ने पूर्व एयर चीफ मार्शल एसपी त्यागी से तकरीबन दस घंटे पूछताछ की थी. त्यागी के खिलाफ आरोप था कि उन्होंने हेलीकॉप्टर की उड़ान की उंचाई को 6000 मीटर से घटाकर 4500 मीटर कर दिया था, जिसकी वजह से अगस्ता वेस्टलैंड बोली लगाने में शामिल की जा सकी थी. 
 
क्या है मामला ? 
यूपीए-1 सरकार के वक्त 2010 में अगस्ता वेस्टलैंड से वीवीआईपी के लिए 12 हेलीकॉप्टरों की खरीद की डील हुई थी. डील के तहत मिले 3 हेलिकॉप्टर आज भी दिल्ली के पालम एयरबेस पर खड़े हैं. इन्हें इस्तेमाल में नहीं लाया गया. डील 3,600 करोड़ रुपए की थी. टोटल डील का 10% हिस्सा रिश्वत में देने की बात सामने आई थी. इसके बाद यूपीए सरकार ने फरवरी 2010 में डील रद्द कर दी थी. तब एयरफोर्स चीफ रहे एसपी त्यागी समेत 13 लोगों पर केस दर्ज किया गया था. जिस मीटिंग में हेलिकॉप्टर की कीमत तय की गई थी, उसमें यूपीए सरकार के कुछ मंत्री भी मौजूद थे. इस वजह से कांग्रेस पर भी सवाल उठे थे.